होम /न्यूज /राष्ट्र /Gujarat Election 2022: बीजेपी-कांग्रेस-आप में कड़ा मुकाबला, सत्ता से लेकर विपक्ष पर फैसला आज

Gujarat Election 2022: बीजेपी-कांग्रेस-आप में कड़ा मुकाबला, सत्ता से लेकर विपक्ष पर फैसला आज

गुजरात में बीजेपी, कांग्रेस और आप के बीच त्रिकोणीय मुकाबला. (फाइल फोटो)

गुजरात में बीजेपी, कांग्रेस और आप के बीच त्रिकोणीय मुकाबला. (फाइल फोटो)

गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आज यानी 8 दिसंबर को जारी किए जाएंगे. जानकारों का कहना है कि रिजल्ट के बाद सूबे में मुख्य ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

गुजरात में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना आज
बीजेपी , कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला

अहमदाबाद. गुजरात में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना में कुछ घंटों का समय बचा है और सत्तारूढ़ भाजपा राज्य में लगातार सातवीं जीत को लेकर उत्साहित है. यहां बीजेपी , कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है. राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने कहा कि परिणाम यह निर्धारित करेगा कि गुजरात में मुख्य विपक्षी दल के तौर पर कौन काबिज होगा. एग्जिट पोल के पूर्वानुमानों में गुजरात में भाजपा के लिए बड़े बहुमत की भविष्यवाणी की गई है. अगर ये सच होते है तो पार्टी लगातार सातवीं बार राज्य में सत्ता बरकरार रखने और पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चे के कारनामे के बराबर उपलब्धि हासिल करती नजर आएगी.

भाजपा के लिए यहां बड़ी जीत 2024 में प्रधानमंत्री के रूप में लगातार तीसरी बार नरेन्द्र मोदी की दावेदारी को मजबूत करेगी. एक पर्यवेक्षक ने कहा कि भाजपा के लिए मुख्य चुनौती के रूप में कांग्रेस की भूमिका दांव पर है. नतीजों से पता चलेगा कि क्या पार्टी के ‘मूक अभियान’ ने लोगों को प्रभावित किया है. पार्टी के शीर्ष नेता भारत जोड़ो यात्रा में व्यस्त थे.

आम आदमी पार्टी के लिए बड़ा मौका

आक्रामक प्रचार अभियान चलाने वाली आम आदमी पार्टी (आप) के लिए गुजरात चुनाव खुद को राष्ट्रीय पार्टी के रूप में स्थापित करने और राष्ट्रीय स्तर पर भी भाजपा को चुनौती देने का एक मौका है. दिल्ली नगर निकाय चुनाव में जीत से उत्साहित आप को उम्मीद है कि उसकी कल्याणकारी राजनीति को गुजरात के लोग स्वीकार करेंगे. भाजपा ने राज्य में 27 साल के शासन के बाद सत्ता विरोधी भावनाओं से जूझते हुए हाल के चुनाव लड़े.  चुनावों में प्रमुख मुद्दों में बेरोजगारी, मूल्य वृद्धि, राज्य के कुछ हिस्सों में पानी नहीं पहुंचना, बड़ी परियोजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण और किसानों को अत्यधिक बारिश के कारण फसल क्षति का उचित मुआवजा नहीं मिलना था.

ये भी पढ़ें:  क्या गुजरात और हिमाचल चुनाव के नतीजे तय करेंगे 2024 में कैसा होगा कांग्रेस का सफर?

इस बार मतदान प्रतिशत 2017 की तुलना में लगभग चार प्रतिशत कम हुआ. राज्य में 2017 में 68.39 प्रतिशत के मुकाबले इस बार सिर्फ 64.33 प्रतिशत मतदान हुआ. मत प्रतिशत में इस गिरावट की वजह शहरी मतदाताओं की अपने मताधिकार का प्रयोग करने की सामान्य उदासीनता बताई गई. कम मतदान प्रतिशत ने भाजपा को चिंता में डाल दिया है और दूसरे चरण में पार्टी ने मतदान के आंकड़ों को बढ़ाने के लिए भरसक प्रयास किए. गुजरात में मुकाबला परंपरागत रूप से भाजपा और कांग्रेस के बीच रहा है, लेकिन इस बार ‘आप’ के चुनावी अखाड़े में उतरने के साथ यह त्रिकोणीय हो गया.

Tags: Assembly election 2022, Gujarat Assembly Elections, Gujarat Elections, Gujarat news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें