होम /न्यूज /राष्ट्र /Gujarat Election Result 2022: इन 10 पॉपुलर नेताओं में जानें कौन जीता-कौन हारा

Gujarat Election Result 2022: इन 10 पॉपुलर नेताओं में जानें कौन जीता-कौन हारा

इस चुनाव में कुछ चेहरे ऐसे थे जो काफी चर्चा में रहे. (News18.com)

इस चुनाव में कुछ चेहरे ऐसे थे जो काफी चर्चा में रहे. (News18.com)

गुजरात को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का गढ़ माना जाता है और यहां भाजपा की ऐतिहासिक जीत के बाद जश्‍ ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजों में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए सरकार बनाना तय कर लिया है. भाजपा के तमाम नेताओं ने बड़ी अंतर से जीत दर्ज की है. गुरुवार को वोटों की गिनती के साथ ही रुझान मिलना शुरू हो गए थे.

गुजरात में इस बार कुछ चेहरे काफी चर्चा में रहे. फिर चाहे वे कांग्रेस से भाजपा में आए युवा नेता हार्दिक पटेल हों या फिर क्रिकेटर रविंद्र जडेजा की पत्नी रीवाबा जडेजा. यहां ऐसे ही 10 सबसे चर्चित उम्मीदवारों के बारे में जानिए कि कौन जीता- कौन हारा …

ये भी पढ़ें- कांग्रेस से बीजेपी में आए हार्दिक पटेल के भाग्य का फैसला आज, पार्टी हैं बड़ी उम्मीदें

भूपेंद्रभाई पटेल (जीते)
गुजरात के घाटलोडिया विधानसभा सीट से मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल ने जीत दर्ज कर ली है. भूपेंद्र पटेल दूसरी बार मैदान में थे. इस सीट पर कांग्रेस ने अमीबेन याज्ञनिक और आप ने विजय पटेल को मैदान में उतारा था. मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने 1.92 लाख वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है. भूपेंद्रभाई इस बार भी गुजरात में बीजेपी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार हैं.

ये भी पढ़ें- क्या गुजरात और हिमाचल चुनाव के नतीजे तय करेंगे 2024 में कैसा होगा कांग्रेस का सफर?

रीवाबा जडेजा (जीतीं)
भारतीय जनता पार्टी के जामनगर उत्तर विधानसभा सीट से क्रिकेटर रवींद्र जडेजा की पत्नी रीवाबा जीत गईं हैं. उन्‍होंने पार्टी और जनता को समर्थन देने के लिए धन्यवाद कहा है. चुनाव में भाजपा की रिवाबा जडेजा का मुकाबला कांग्रेस के बिपेंद्र सिंह जडेजा और आप के करसन करमूर के बीच था.

अल्पेश ठाकोर (जीते)
गांधीनगर दक्षिण विधानसभा सीट पर भाजपा के युवा ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर जीत गए हैं, जबकि कांग्रेस ने अपने प्रवक्ता और पाटीदार नेता हिमांशु पटेल को मैदान में उतारा है और आप ने दौलत पटेल को उम्मीदवार बनाया है. इस सीट पर ठाकोर वोटरों की बहुसंख्यक आबादी है, जिसके बाद पाटीदार हैं और तीसरा समुदाय दलित है.

ये भी पढ़ें- गुजरात और हिमाचल के साथ रामपुर, कुढ़नी और खतौली में कौन मारेगा बाजी, फैसला आज

हार्दिक पटेल (जीते)
अहमदाबाद के वीरमगाम विधानसभा सीट पर भाजपा ने फायरब्रांड पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को मैदान में उतारा था जो चुनाव जीत गए हैं. हार्दिक पटेल पार्टी के स्टार प्रचारकों में से एक हैं. जून में कांग्रेस से भाजपा में चले गए थे उनका पहला विधानसभा चुनाव कांग्रेस विधायक लखाभाई भारवाड़ और आप के अमरसिंह ठाकोर के खिलाफ था. इसके अलावा प्रसिद्ध दलित कार्यकर्ता किरीट राठौड़ भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में इस सीट से चुनाव लड़ रहे थे.

हर्ष संघवी (जीते)
हर्ष संघवी गुजरात के गृह मंत्री हैं. वे सूरज जिले की माजूरा विधानसभा सीट से विजयी हुए हैं. बीजेपी ने उन्हें इस सीट से तीसरी बार विधायक का उम्मीदवार बनाया था. इस सीट पर आम आदमी पार्टी ने पीवीएस सर्मा और कांग्रेस ने बलवंत शांतिलाल जैन को अपना उम्मीदवार बनाया था.

पुरुषोत्तमभाई सोलंकी (जीते)
भावनगर ग्रामीण सीट पर पुरुषोत्तमभाई सोलंकी जीत गए हैं. बीजेपी ने पांच बार के विधायक और कोली समुदाय के वरिष्ठ नेता पर भरोसा जताया था. वे गुजरात सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं. पुरुषोत्तम कोली समाज के बड़े नेताओं में शुमार हैं. यह कोली समुदाय के वर्चस्व वाली सीट 2012 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई है. इस सीट पर कांग्रेस ने रेवतसिंह गोहिल और आम आदमी पार्टी ने खुमानसिंह गोहिल को टिकट दिया था.

इसुदान गढ़वी (हारे)
पूर्व पत्रकार और टीवी एंकर इसुदान गढ़वी आम आदमी पार्टी की तरफ से गुजरात के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में चुनावी मैदान में उतरे थे, वे हार गए हैं.  द्वारका जिले की खंभालिया सीट से आप उम्मीदवार थे.  इस सीट पर बीजेपी ने मुलुभाई बेरा और कांग्रेस ने विक्रमभाई मैडम को उम्मीदवार बनाया था.

भीमाभाई चौधरी (हारे) 
देवदार विधानसभा क्षेत्र बनासकांठा लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है. इस सीट पर चर्चित चेहरों में शामिल उम्मीदवार आप गुजरात के उपाध्यक्ष भीमाभाई चौधरी हैं, जो चुनाव हार गए हैं. वे गुजरात में पार्टी के लॉन्च के समय से ही पार्टी से जुड़े हुए हैं. उनका मुकाबला बीजेपी के केशाजी शिवाजी चौहान और कांग्रेस के भीमाभाई रगनाथभाई चौधरी से है. 2017 के चुनाव में कांग्रेस के भूरिया शिवभाई अमराभाई ने बीजेपी के चौहान केशाजी शिवाजी को 972 वोटों से हराया था. इस बार भाजपा प्रत्याशी केशाजी शिवाजी ठाकोर ने जीत दर्ज की है.

कांतीलाल अमृतिया (जीते)
मोरबी पुल हादसे के बाद चर्चा में कांतीलाल अमृतिया को भाजपा ने अपना उम्मीदवार बनाया, वे चुनाव जीत गए हैं. कांतिलाल वही शख्स हैं जिन्होंने मोरबी पुल हादसे के वक्त डूब रहे लोगों को बचाने में मदद की थी. इस घटना बाद ही कांतिलाल काफी सुर्खियों में आए थे.

जिग्नेश मेवानी (जीते)
कांग्रेस उम्मीदवार जिग्नेश मेवाणी वडगाम विधानसभा सीट से जीत गए हैं. गुजरात के बनासकांठा जिले में पड़ने वाली वडगाम विधानसभा सीट पर दूसरे चरण में पांच दिसंबर को मतदान हुआ था. दलित युवा नेता के रूम में उभरे जिग्नेश ने 2017 में निर्दलीय चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी. पेशे से वकील मेवाणी एक सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में भी उभरे हैं. इस बार उनके सामने आप से कड़ी टक्कर के बीच मुस्लिम और दलित वोटबैंक को बनाए रखने की चुनौती है. उनका मुकाबला भाजपा के मणिभाई जेठाभाई वाघेला और आप के दलपत भाटिया से था.

Tags: Assembly election, Gujarat Elections

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें