गुजरात में बाढ़ जैसे हालात, अगले 48 घंटों में हो सकती है भारी बारिश, इन इलाकों में ज्यादा असर

गुजरात में बाढ़ जैसे हालात, अगले 48 घंटों में हो सकती है भारी बारिश, इन इलाकों में ज्यादा असर
अगले दो दिन में सौराष्ट्र और उत्तर और दक्षिण गुजरात के क्षेत्रों में भारी बारिश होने की आशंका है.

गुजरात (Gujarat) में अगले 48 घंटे में भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने सौराष्ट्र (Saurashtra) और कच्छ (Kutch) और इसके आस-पास के इलाकों में कम दबाव के कारण तेज से बहुत तेज बारिश होने की आशंका जताई है.

  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) में अगले दो दिनों में भारी बारिश हो सकती है. भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) के डिप्टी डायरेक्टर जनरल आनंद शर्मा ने मंगलवार को यह जानकारी दी. शर्मा ने बताया कि सौराष्ट्र (Saurashtra) और कच्छ (Kutch) संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण के साथ एक कम दबाव का क्षेत्र है. ऐसे में सौराष्ट्र, कच्छ और इसके आस-पास के इलाकों में तेज से बहुत तेज वर्षा हो सकती है.

गुजरात के देवभूमि द्वारका जिले के खंभालिया तालुका में 487 मिलीमीटर बारिश होने के एक दिन बाद सौराष्ट्र क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों में सोमवार को भारी बारिश जारी रही, जिससे कुछ क्षेत्रों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई. अगले तीन दिनों में गुजरात के कई हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका है और महाराष्ट्र के भी कई हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है.

भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) के डिप्टी डायरेक्टर जनरल आनंद शर्मा ने कहा कि जहां तक पश्चिमी तटीय क्षेत्र का संबंध है, हमारे पास गुजरात से केरल (Kerala) तक अपतटीय गर्त हैं, जो पश्चिमी तटीय क्षेत्र में भी अच्छी वर्षा लाएगा. आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) क्षेत्र में कम दबाव की प्रणाली है, उस क्षेत्र में भी हम अच्छी बारिश की उम्मीद कर रहे हैं.



बता दें सोमवार को गुजरात के देवभूमि द्वारका जिले के खंभालिया तालुका में 487 मिलीमीटर बारिश होने के एक दिन बाद सौराष्ट्र क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश जारी रही, जिससे कुछ क्षेत्रों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बारिश से उपजे हालत से निपटने के लिए खंभालिया में सोमवार को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के एक दल को तैनात किया गया. एक स्थानीय अधिकारी ने कहा कि बारिश के कारण जूनागढ़ में लगभग 30 वर्ष पुराना एक पुल ढह गया. उन्होंने बताया कि पुल ढहने से किसी के घायल होने की खबर नहीं है.
ये भी पढ़ें- Railway की नई फैसिलिटी! यात्रियों को इस स्टेशन पर मिलेगी ये सुविधा, जानें क्या

48 घंटे में गुजरात में भारी बारिश
भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि अगले दो दिन में सौराष्ट्र और उत्तर और दक्षिण गुजरात के क्षेत्रों में भारी बारिश होने की आशंका है. इस मानसून में रविवार आधी रात तक पिछले चौबीस घंटे में खंभालिया में 487 मिलीमीटर बारिश हुई. राज्य आपातकालीन अभियान केंद्र ने कहा कि उसी जिले में स्थित द्वारका तालुका में 272 मिलीमीटर और कल्याणपुर तालुका में 355 मिलीमीटर बारिश हुई.

जूनागढ़ में ढहा 30 साल पुराना पुल
जूनागढ़ जिला विकास अधिकारी प्रवीण चौधरी ने कहा कि जिले के केशोद तालुका में सबली नदी के ऊपर बना लगभग तीस साल पुराना पुल सोमवार को भारी बारिश के कारण ढह गया जिससे स्थानीय लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. अधिकारी ने कहा कि सोमवार को हुई बारिश के बाद सौराष्ट्र क्षेत्र के विभिन्न जिलों में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई. उन्होंने कहा कि बारिश के कारण सड़कों और खेतों में पानी भर गया है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अगले दो दिन में देवभूमि द्वारका समेत सौराष्ट्र के अन्य जिलों के कुछ हिस्सों और उत्तर और दक्षिण गुजरात में भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका जताई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज