अपना शहर चुनें

States

गुजरात निकाय चुनाव: BTP से मुकाबले को BJP तैयार, 31 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिए

जिला भाजपा प्रमुख मारुतिसिंह अतोदरिया के मुताबिक पार्टी ने पहली बार जिला में मुस्लिम समुदाय से इतने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है.(प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
जिला भाजपा प्रमुख मारुतिसिंह अतोदरिया के मुताबिक पार्टी ने पहली बार जिला में मुस्लिम समुदाय से इतने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है.(प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Gujarat civic elections: भरूच जिला पंचायत में 34 सीटें हैं और इस पर कांग्रेस (Congress) और झाघडिया से विधायक छोटू वसावा की बीटीपी का नियंत्रण है. हाल में वसावा ने एआईएमआईएम के साथ चुनावी गठजोड़ करने की घोषणा की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 12, 2021, 6:54 PM IST
  • Share this:
भरूच. भाजपा (BJP) ने गुजरात में 28 फरवरी को स्थानीय निकायों के चुनाव के लिए भरूच जिले (Bharuch District) में 31 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है. जिला भाजपा प्रमुख मारुतिसिंह अतोदरिया के मुताबिक पार्टी ने पहली बार जिला में मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) से इतने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है. हालांकि, उन्होंने इससे इनकार किया कि प्रतिद्वंद्वी भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) और असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के बीच गठजोड़ के कारण यह फैसला किया गया.

अच्छी खासी मुस्लिम आबादी वाले भरूच जिले में जिला पंचायत, नौ तालुका पंचायत और चार नगरपालिका के लिए चुनाव होंगे. अतोदरिया ने कहा, ‘भाजपा संसदीय बोर्ड द्वारा जिले के लिए बुधवार को घोषित कुल 320 उम्मीदवारों में 31 मुसलमान हैं.’ उन्होंने कहा चुनाव प्राधिकारों द्वारा नामांकन खारिज किए जाने पर कुछ उम्मीदवार बदले जा सकते हैं.





यह भी पढ़ें: ओवैसी अब गुजरात में देंगे BJP को चुनौती, BTP के साथ लड़ेंगे पंचायत चुनाव
भरूच जिला पंचायत में 34 सीटें हैं और इस पर कांग्रेस और झाघडिया से विधायक छोटू वसावा की बीटीपी का नियंत्रण है. हाल में वसावा ने एआईएमआईएम के साथ चुनावी गठजोड़ करने की घोषणा की थी और पिछले सप्ताह ओवैसी के साथ संयुक्त तौर पर एक रैली की. हालांकि, अतोदरिया ने इनकार किया कि प्रतिद्वंद्वी गठबंधन की वजह से भगवा पार्टी ने ज्यादा मुस्लिम उम्मीद उतारे हैं.

उन्होंने कहा, ‘हमने किसी को महज अल्पसंख्यक समुदाय से होने के कारण नहीं चुना है. वे योग्यता के आधार पर चुने गए हैं. मसलन वालिया सीट से हमने एक मुस्लिम भाजपा कार्यकर्ता को चुना है, जहां हिंदुओं की आबादी ज्यादा है.’ उन्होंने दावा किया कि मुस्लिमों के बीच भाजपा की स्वीकार्यता बढ़ी है और समुदाय के कई लोग भाजपा में शामिल हुए हैं.

ओवैसी के साथ गठजोड़ के दौरान वसावा ने कहा था कि बीटीपी और एआईएमाईएम संविधान को बचाने के लिए एक साथ सियासी मैदान में उतरे हैं. वसावा जहागड़िया से विधायक हैं. उन्होंने कहा कि बीटीपी और AIMIM गुजरात में होने जा रहे पंचायत चुनाव एक साथ लड़ेगी. उन्होंने कहा कि लोगों को बेहतर भविष्य के लिए कांग्रेस और बीजेपी दोनों को हटाने के लिए काम करना होगा.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज