Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Gujarat News: क्लास 2 का छात्र बना सबसे कम उम्र का प्रोग्रामर, गिनीज बुक में नाम दर्ज

    तल्सानिया एक बिजनेस इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं और सबकी मदद करना चाहते हैं. (ANI)
    तल्सानिया एक बिजनेस इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं और सबकी मदद करना चाहते हैं. (ANI)

    गुजरात के अहमदाबाद में कक्षा 2 के एक छात्र अरहम ओम तलसानिया (Arham Om Talsania) महज 6 साल की छोटी सी उम्र में दुनिया के सबसे कम उम्र के कम्प्यूटर प्रोग्रामर (Youngest Computer Programmer) बन गए हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 10, 2020, 1:47 PM IST
    • Share this:
    अहमदाबाद. भारत में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है. ऐसे कई अनोखे लोग सामने आते रहे हैं. अब देश में एक 6 साल के छात्र ने अपने कारनामे से सभी को हैरत में डाल दिया है. गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले अरहम ओम तलसानिया (Arham Om Talsania) सबसे कम उम्र को कंप्यूटर प्रोग्रामर (Youngest Computer Programmer) बने हैं. अरहम क्लास 2 के छात्र हैं. उनका नाम गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness World Record) में दर्ज हो चुका है.

    तलसानिया के पिता खुद एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं. उन्होंने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा, 'बेटे ने कोडिंग में रुचि विकसित की थी. मैंने उसे प्रोग्रामिंग की मूल बातें सिखाईं. अब अरहम ने माइक्रोसोफ्ट की ओर से आयोजित की गई पायथन प्रोग्रामिंग भाषा को पास कर लिया है.'


    बता दें कि माइक्रोसोफ्ट ने पियर्सन व्यू टेस्ट सेंटर में ये एग्जाम हुआ था. अरहम ने इसके साथ ही पाकिस्तानी मूल के सात साल के ब्रिटिश लड़के मुहम्मद हमजा शहजाद के गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ दिया है.



    MOEF मंत्रालय में लीगल एसोसिएट के लिए 25 वैकेंसी, 60 हजार तक सैलरी, 17 नवंबर तक करें अप्लाई

    अरहम ओम तल्सानिया कहते हैं, 'पापा ने मुझे कोडिंग सिखाई है. जब मैं 2 साल का था तभी मैंने टैबलेट का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था. 3 साल की उम्र में मैंने iOS और विंडोज के साथ गैजेट्स खरीदे. बाद में मुझे पता चला कि मेरे पापा पायथन पर काम कर रहे थे.'

    अरहम कहते हैं, 'जब मुझे पायथन से मेरा सर्टिफिकेट मिला, तब मैं छोटे गेम बना रहा था. कुछ समय के बाद उन्होंने मुझसे काम के कुछ सबूत भेजने के लिए कहा. कुछ महीनों के बाद उन्होंने मुझे मंजूरी दे दी और मुझे गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट मिला.'

    तल्सानिया एक बिजनेस इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं और सबकी मदद करना चाहते हैं. उन्होंने कहा, 'मैं एक बिजनेस इंटरप्रेन्योर बनना चाहता हूं. सब की मदद करना चाहता हूं. मैं कोडिंग के लिए ऐप, गेम और सिस्टम बनाना चाहता हूं. मैं जरूरतमंदों की मदद भी करना चाहता हूं.'
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज