Gujarat News: दंपति की सूझबूझ को सलाम, साड़ी से बचाई नहर में डूब रही लड़की की जान

 सरदारजी ठाकोर और उनकी पत्नी मधु बहन (फाइल)
सरदारजी ठाकोर और उनकी पत्नी मधु बहन (फाइल)

मामला गुजरात के गांधीनगर का है. यहां एक हादसे में कार डिवाइडर तोड़कर नहर में जा गिरी थी. कार में पांच लोग सवार थे. एक दंपति ने अपनी सूझबूझ से लड़की की जिंदगी बचा ली, जबकि उसके दोस्त गहरे पानी में डूब गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 11:24 AM IST
  • Share this:
गांधीनगर. सुबह 11 बजे के आसपास का वक्त. जब सरदारजी ठाकोर और उनकी पत्नी मधु बहन अपने खेत से काम निपटाकर ट्रैक्टर से घर लौट रहे थे. सरदार जी अपनी ही धुन में थे. अचानक उनकी पत्नी ने कहा ट्रैक्टर रोको. पास की सड़क पर तेज रफ्तार कार डिवाइडर तोड़कर नहर (Canal) में गिर गई, जिसकी आवाज सुनकर पत्नी ने ट्रैक्टर रोकने को कहा था. सरदार जी ठाकोर ने ट्रैक्टर को नहर की ओर तुरंत मोड़ दिया.

थोड़े दूर गए तो देखा एक कार नहर में डूब रही थी. दो हाथ पानी में डूब रहे थे और मदद के लिए इशारा कर रहे थे. सरदार जी ठाकोर ने ज्यादा वक्त गंवाए पत्नी को साड़ी उतारने को कहा. मधु बहन ने भी फौरन साड़ी उतार दी. सरदारजी ने साड़ी का गोला बनाया और डूबते लोगों की ओर फेंका. पहली कोशिश नाकाम रही. दूसरा भी नाकाम हो गई. पानी मे डूब रहे लोग मदद की पुकार देते सुनाई दिए.

Viral: समुद्र में डूब रहीं 2 औरतों को बचाने के लिए पानी में कूदे इस देश के राष्ट्रपति



सरदार जी गहरे पानी की ओर आगे बढ़े और फिर साड़ी का गोला बनाकर फेंका, जहां एक हाथ ने साड़ी के गोले को पकड़ लिया. साड़ी किनारे की ओर खींचते रहे और एक लड़की साड़ी के साथ किनारे आती दिखी. लड़की को बाहर निकालने में सरदारजी और मधु बहन सफल रहे.

लड़की काफी डर चुकी थी और कांप रही थी. मधु बहन ने उसे गले लगाया. थोड़े वक्त बाद लड़की थोड़ी नॉर्मल हुई. उसने अपना नाम अर्बिना सैयद बताया और पिता का मोबाइल नंबर दिया. वहीं, दूसरी ओर सरदारजी साड़ी का गोला बनाकर गाड़ी की और फेंकते रहे. पानी गहरा था. अब दूसरे हाथ और गाड़ी दिखनी बंद हो गयी थी.

सरदारजी ने लड़की के बताए नंबर पर फोन करके जानकारी दी. लड़की का परिवार मौके के लिए निकल चुका था. गांव के सरपंच को जानकारी दी गयी. थोड़े वक्त बाद लड़की का परिवार आ गया.

Assam: नदी के पानी में डूब रहा था भोला, मां हथिनी ने ऐसे बचाई जान

जलकर्मी भी पहुंच गए. कई घंटों की मशक्कत के बाद कार के साथ 4 लाशें पानी से निकाली गईं. कार में सवार सभी छात्र थे, किसी परीक्षा का फॉर्म भरने गए थे और वापिस लौट रहे थे. तभी कार चालक ने स्टीयरिंग से काबू खो दिया और ये नहर में जा गिरी. लाशों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज