गुजरात: देश में पहली बार गोकशी पर 10 साल की सजा, 1 लाख का जुर्माना

यह मामला बछड़ा चुराने का है. दोषी सलीम चाडर ने बछड़ा चुराया था और उसकी हत्‍या कर दी थी.

News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 8:37 PM IST
गुजरात: देश में पहली बार गोकशी पर 10 साल की सजा, 1 लाख का जुर्माना
देश में ऐसा पहली बार है जब किसी कोर्ट ने गोकशी के लिए इतनी बड़ी सजा सुनाई हो. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 8:37 PM IST
गुजरात की एक कोर्ट ने गोवंश की हत्‍या के जुर्म में एक व्‍यक्ति को 10 साल की सजा सुनाई है. देश में ऐसा पहली बार है जब किसी कोर्ट ने गोकशी के लिए इतनी बड़ी सजा सुनाई हो. मामला गुजरात की धोराजी शहर का है.

यहां की कोर्ट ने गोकशी के मामले की सुनवाई करते हुए आरोपी व्‍यक्ति को 10 साल की सजा और एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. यह मामला बछड़ा चुराने का है. दोषी सलीम चाडर ने बछड़ा चुराया था और उसकी हत्‍या कर दी थी.

यह मामला पुलिस के पास गया और इसकी फॉरेंसिक जांच कराई गई. जांच में गोकशी की बात सामने आई थी. गुजरात सरकार ने जून, 2017 में विधानसभा में गोवंश सुरक्षा को लेकर एक कानून पास किया था. इस कानून क तहत गोकशी के मामले में 10 साल की सजा और पांच लाख रुपये तक के जुर्माना का प्रावधान है. गुजरात देश का ऐसा पहला राज्‍य है जिसने गोकशी को रोकने के लिए इतना सख्‍त कानून पारित किया है.

खंडवा गोकशी मामले में तीनों आरोपियों पर लगाया गया रासुका

इस साल की शुरूआत में खंडवा में गोवंश की हत्या के मामले में खंडवा जिला प्रशासन ने तीन आरोपियों के खिलाफ बड़ी कारवाई करते हुए रासुका लगाई थी. कांग्रेस की सरकार बनने के बाद प्रदेश में गोवंश मामले को लेकर ये अबतक की पहले सबसे बड़ी कारवाई थी. तीनों आरोपी खंडवा के ही निवासी थे.

बता दें कि खंडवा के खरकली गांव में नदी किनारे गोवंश काटने और उसका मांस निकालने की सूचना पुलिस को मिली थी. इसके बाद मोघट पुलिस ने दलबल के साथ मौके पर दबिश देकर आरोपियों के हथियार के साथ धर दबोचा. गिरफ्तार आरोपियों में से दो आरोपी राजू उर्फ़ नदीम और शकील और आजम को गोवंश की हत्या के मामले में पहले भी गिरफ्तार किया जा चुका है.

ये भी पढ़ें: करोड़ों की टैक्स चोरी के शक में टेंपो चालक के घर छापा
First published: July 7, 2019, 8:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...