Home /News /nation /

सूरत में मोदी ने कहा- आंबेडकर की भूमिका कम करने का हुआ था प्रयास

सूरत में मोदी ने कहा- आंबेडकर की भूमिका कम करने का हुआ था प्रयास

गुजरात चुनाव: यूपी नहीं है गुजरात, ये 15 कारण बढ़ाएंगे बीजेपी का टेंशन. (फोटो : social media and File photo).

गुजरात चुनाव: यूपी नहीं है गुजरात, ये 15 कारण बढ़ाएंगे बीजेपी का टेंशन. (फोटो : social media and File photo).

गुजरात विधानसभा के पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार अभियान गुरुवार शाम को समाप्त हो जायेगा. इस चुनाव को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व के लिए एक परीक्षा के रूप में देखा जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...
    गुजरात विधानसभा के पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार अभियान गुरुवार शाम को थम जाएगा. इस चुनाव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व के लिए एक परीक्षा के रूप में देखा जा रहा है.

    मोदी ने कहा, राष्ट्र निर्माण में बाबा साहब का काफी महत्वपूर्ण योगदान है. उनकी भूमिका को कम करने की कोशिश की गई है. लेकिन ये प्रयास असफल रहे. बाबा साहब के प्रयास को मिटाने वाला परिवार उतना प्रभावशाली नहीं रहा कि वह इसे अंजाम दे दे.



    मोदी ने कहा, कुछ लोगों के लिए कई बार जन्म के समय मिली जाति, जन्म के समय मिली भूमि से ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाती है. आज की नई पीढ़ी में वो क्षमता है जो इन सामाजिक बुराइयों को खत्म कर सकती है. पिछले 15-20 वर्षों में जो बदलाव मैं देख रहा हूं, उसका पूरा श्रेय नई पीढ़ी को ही दूंगा.

    नरेंद्र मोदी ने कहा, ये सरकार बाबा साहब से जुड़े स्थलों को तीर्थ स्थल के रूप में बनाने का प्रयास कर रही है.



    इस रैली के बाद मोदी ऑडियो ब्रिज कॉल के जरिए गुजरात बीजेपी के एससी-एसटी मोर्चे के मंडल अध्यक्षों से सीधी बात करेंगे. इस कार्यक्रम में मंडल अध्यक्षों के साथ-साथ करीब 1000 कार्यकर्ता हिस्सा लेंगे.

    कांग्रेस करेगी प्रेस कॉन्फ्रेंस
    चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस बीजेपी को घेरने की पूरी कोशिश करेगी. कांग्रेस कार्यकर्ता अलग-अलग शहरों में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर पीएम और अन्य नेताओं से सवाल पूछेंगे. बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ट्विटर पर हर दिन एक सवाल पूछ कर पीएम मोदी और गुजरात बीजेपी से 22 सालों का हिसाब मांग रहे हैं.

    ईवीएम में कैद होगा 977 उम्मीदवारों का भविष्य 
    पहले चरण में विधानसभा की 182 सीटों में से 89 सीटों पर मतदान होगा. इस चरण में सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात क्षेत्रों में चुनाव होगा. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी समेत 977 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है. मतदान 9 दिसंबर को होगा.

    पिछले चुनाव में बीजेपी के मिली थीं ज्यादा सीटें
    अरब सागर तट पर स्थित सौराष्ट्र में राज्य के 11 जिले आते हैं. कच्छ सबसे बड़ा जिला है, जिसमें 10 तालुक, 939 गांव और छह नगर पालिकाएं आती है. राज्य में वर्ष 2012 में हुए विधानसभा चुनावों में सौराष्ट्र और कच्छ की 58 सीटों में से 35 सीटों पर भाजपा ने कब्जा किया और कांग्रेस ने 20 सीटों पर जीत दर्ज की थी. शेष तीन सीटों में से दो सीटें गुजरात परिवर्तन पार्टी और एक सीट राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने जीती थी.

    इस चरण के लिए हुए चुनाव प्रचार अभियान के दौरान प्रधानमंत्री ने लगभग 14 रैलियों को संबोधित किया है, जबकि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में सात से अधिक दिन बिताए थे और कई सभाओं को संबोधित किया था. दूसरे और अंतिम चरण का मतदान 14 दिसंबर को होगा और मतगणना 18 दिसंबर को होगी.

    Tags: Assembly election 2017, Gujarat, Narendra modi, Rahul gandhi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर