गुजरात: 8 फरवरी से कॉलेज जा सकेंगे प्रथम वर्ष के छात्र, ऑनलाइन क्लासेज भी जारी रहेंगी

राज्य सरकार ने केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार, बीती 11 जनवरी से फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज खोल दिए थे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

राज्य सरकार ने केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार, बीती 11 जनवरी से फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज खोल दिए थे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Gujarat News: सरकार ने कॉलेज छात्रों के लिए हॉस्टल सुविधा शुरू करने को लेकर भी एसओपी (SOP) की घोषणा की है. कॉलेज दोबारा शुरू होने के बाद शुरुआती दिनों में छात्रों की 25 प्रतिशत उपस्थिति देखी गई है. वहीं, आने वाले कुछ दिनों में यह आंकड़े सुधरने की संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 11:01 AM IST
  • Share this:
गांधीनगर. गुजरात में फाइनल ईयर के बाद अब फर्स्ट ईयर के छात्रों (College for First Year Students) के लिए भी कॉलेज शुरू होने जा रहे हैं. गुरुवार को राज्य शिक्षा विभाग ने कहा कि प्रथम वर्ष के छात्र 8 फरवरी से शुरू होने जा रही क्लासरूम स्टीज में शामिल हो सकते हैं. कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी के कारण करीब 9 महीनों से शिक्षण संस्थान बंद थे. हालांकि, बीती 11 जनवरी को इन्हें फाइनल ईयर के छात्रों के लिए खोल दिया गया था.

राज्य सरकार ने केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार, बीती 11 जनवरी से फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज खोल दिए थे. इस दौरान अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट, एम फिल, पीएचडी समेत दूसरे कोर्स के के छात्रों को कॉलेज आने की अनुमति थी. वहीं, गुरुवार को राज्य शिक्षा विभाग की तरफ से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, फाइनल ईयर के छात्रों के लिए लगाई हुई एसओपी प्रथम वर्ष के छात्रों पर भी लागू होगी.

यह भी पढ़ें: गुजरात भाजपा ने छह नगर निगमों के चुनाव के लिये उम्मीदवारों के नाम तय किये

इसके अलावा सरकार ने कॉलेज छात्रों के लिए हॉस्टल सुविधा शुरू करने को लेकर भी एसओपी की घोषणा की है. कॉलेज दोबारा शुरू होने के बाद शुरुआती दिनों में छात्रों की 25 प्रतिशत उपस्थिति देखी गई है. वहीं, आने वाले कुछ दिनों में यह आंकड़े सुधरने की संभावना है. राज्य में कोविड-19 के एक्टिव मामलों की संख्या कम हो रही है और सरकार ने हाल ही में वैक्सीन प्रोग्राम भी शुरू कर दिया है.


हालांकि, इस दौरन सरकार ने यह साफ किया है कि छात्रों के लिए ऑनलाइन क्लासेज की व्यवस्था जारी रहेगी और उन्हें कैंपस में क्लास में शामिल होना अनिवार्य नहीं है. हॉस्टल को लेकर शिक्षा विभाग की जारी गाइडलाइंस के अनुसार, एक कमरे में दो बच्चों से ज्यादा नहीं रह सकते. https://www.covid19india.org के अनुसार, राज्य में अब तक कोरोना वायरस के 2 लाख 62 हजार 681 मामले सामने आ चुके हैं. जिनमें से 4 हजार 392 मरीजों की मौत हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज