गुजरात की एक संस्‍था ने बनाई मशीन, 30 सेकेंड में खाना व कपड़ा हो जाएगा वायरस मुक्‍त

गुजरात की एक संस्‍था ने बनाई मशीन, 30 सेकेंड में खाना व कपड़ा हो जाएगा वायरस मुक्‍त
आईक्रिएट कंपनी ने एक ऐसी मशीन बनाई है, जो कोरोना वायरस (Coronavirus) को अल्‍ट्रावायलेट किरणों से मारने में सक्षम है. वहीं अटीरा कंपनी ने एन-95 मास्‍क का कपड़ा तैयार करने में सफलता पाई है.

आईक्रिएट कंपनी ने एक ऐसी मशीन बनाई है, जो कोरोना वायरस (Coronavirus) को अल्‍ट्रावायलेट किरणों से मारने में सक्षम है. वहीं अटीरा कंपनी ने एन-95 मास्‍क का कपड़ा तैयार करने में सफलता पाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 12:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश-दुनिया में कहर बरपा रहे कोरोना वायरस (Coronavirus) से निपटने के लिए वैक्‍सीन और अन्‍य संसाधन विकसित के प्रयास चल रहे हैं. इसी क्रम में गुजरात की दो संस्‍थाओं ने कोरोना वायरस (Covid 19) से लड़ने के लिए दो इनोवेशन किए हैं. यहां की आईक्रिएट कंपनी ने एक ऐसी मशीन बनाई है, जो कोरोना वायरस को अल्‍ट्रावायलेट किरणों से मारने में सक्षम है. वहीं अटीरा कंपनी ने कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए एन-95 मास्‍क का कपड़ा तैयार करने में सफलता पाई है.

गुजरात में इंटरनेशनल सेंटर फॉर आंत्रप्रेन्‍योरशिप एंड टेक्‍नोलॉजी आई क्रिएट के वैज्ञानिक प्रसेन विंचुरकर की टीम ने एक ऐसी मशीन तैयार करने का दावा किया है जो किसी भी वस्‍तु पर 30 सेकंड में कोरोना वायरस का खात्‍मा कर देगी. इसे पोर्टेबल अल्‍ट्रा वायलट स्‍टरलाइजर नाम दिया गया है.

ये मशीन हर सामान को कोरोना वायरस से मुक्‍त कर देगी
टीम के एक सदस्‍य ने बताया कि यह घर, ऑफिस, अस्‍पताल और दुकान में रखी हर वस्‍तु को कोरोना वायरस से मुक्‍त कर देगी. इस मशीन के जरिये कपड़े, किताब, मोबाइल, चाबी, मास्‍क, औजार, मास्‍क, ग्लव्‍ज, खाने की चीजों, कागज व कपड़े को भी स्‍टरलाइज किया जा सकता है. इसे भारत सरकार व गुजरात सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग से मंजूरी मिल गई है तथा देश विदेश के मेडिकल जर्नल में भी रिसर्च पेपर प्रकाशित हुए हैं.
आई क्रिएट के सीईओ अनुपम जलोटे के अनुसार यह टीम इस मशीन को बनाने के लिए छह महीने से काम कर रही थी. लेकिन महज 14 दिन में यह यूवी स्‍टरलाइजर तैयार किया गया है.



अटीरा ने एन-99 मास्‍क का कपड़ा तैयार करने में सफलता पाई
वहीं अहमदाबाद टेक्‍सटाइल इंडस्‍ट्रियल रिसर्च एसोसिएशन यानी अटीरा ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के मापदंड के अनुसार एन-99 मास्‍क का कपड़ा तैयार करने में सफलता पाई है. डिफेंस रिसर्च डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) को 3.85 लाख मास्‍क उत्‍पादन के लिए कपड़ा उपलब्‍ध कराया गया है. इसकी फिल्ट्रेशन की क्षमता 99.99 प्रतिशत होने का दावा किया गया है. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (AIIMS), रक्षा संस्‍थान समेत अन्‍य जरूरी जगहों पर स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों के लिए यह इस्‍तेमाल होगी. इस मास्‍क में पांच लेयर हैं, जो कोरोना वायरस से बचाव करेंगी.

यह भी पढ़ें:योगी सरकार का बड़ा फैसला,20 अप्रैल से 19 जिलों में नहीं मिलेगी लॉकडाउन में छूट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज