दुनिया के सबसे लंबे बालों वाली लड़की ने कराया हेयरकट, बना चुकी है कई रिकॉर्ड

दुनिया के सबसे लंबे बाल वाली लड़की ने कराया हेयरकट

दुनिया के सबसे लंबे बाल वाली लड़की ने कराया हेयरकट

नीलांशी पटेल (Nilanshi Patel) ने सबसे हालिया रिकॉर्ड जुलाई 2020 में बनाया था. 200 सेमी (6 फीट, 6.7 इंच) की लंबाई के साथ निलांशी के बाल दुनिया में सबसे ज्‍यादा लंबे थे. उन्होंने 2018 और 2019 में भी इसी श्रेणी में रिकॉर्ड बनाया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 2:36 PM IST
  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) के मोडासा की नीलांशी पटेल (Nilanshi Patel) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर इन दिनों तेजी से वायरल हो रहा है. दरअसल ये वीडियो नीलांशी के हेयरकट का है. अब आप सोच रहे होंगे कि इसमें ऐसा क्‍या है. दरअसल नीलांशी अपने बाल के दम पर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (Guinness World Records) में अपना नाम तीन बार दर्ज करा चुकी हैं. ये वीडियो इसलिए भी वायरल हो रहा है क्‍योंकि नीलांशी ने 12 साल के बाद हेयरकट कराया है. नीलांशी ने सबसे हालिया रिकॉर्ड जुलाई 2020 में बनाया था. 200 सेमी (6 फीट, 6.7 इंच) की लंबाई के साथ निलांशी के बाल दुनिया में सबसे ज्‍यादा लंबे थे. उन्होंने 2018 और 2019 में भी इसी श्रेणी में रिकॉर्ड बनाया था.

नीलांशी ने 12 साल तक अपने बालों की देखभाल करने के बाद उन्‍हें अलविदा कहने का मन बनाया. बाल कटवाने से पहले वह काफी नर्वस भी थीं. उन्‍होंने बाल कटवाने से पहले एक वीडियो शेयर किया जिसमें उन्‍होंने कहा कि मैं बहुत उत्साहित हूं और थोड़ा घबरा रही हूं क्योंकि मुझे नहीं पता कि मैं नए बालों में कैसी दिखूंगी. आइए देखते है कि अब क्‍या होता है लेकिन मुझे उम्‍मीद है कि जो कुछ भी होगा वह आश्चर्यजनक होगा.



गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के एक ब्लॉग पोस्ट के अनुसार नीलांशी ने काफी छोटी उम्र में जब अपने बाल कटवाये थे तो उनका अनुभव बेहद खराब था. इसके बाद उन्‍होंने बाल कटवाने से तौबा कर लिया. उन्‍होंने कहा कि जब मैंने बाल कटवाए तो बहुत ही बुरा लगा. उस समय मेरी उम्र 6 साल की थी. उसके बाद से मैंने कभी बाल नहीं कटवाए.
इसे भी पढ़ें :- दिल्‍ली कैपिटल्‍स के कप्‍तान ऋषभ पंत ने हार के बावजूद कर लिया अपने नाम बड़ा रिकॉर्ड

निलांशी बाल कटवाने के बाद काफी परेशान थीं. उन्‍हें लग रहा था कि वह अपने बालों का क्‍या करें. क्‍या वे उसे नीलाम करेंगी, कैंसर के रोगियों को दान करेंगी या फिर इसे एक संग्रहालय में दान करेंगी. नीलांशी ने बताया कि मां के कहने पर उन्‍होंने बाल एक संग्रहालय में दान करने का फैसला किया. उनकी मां ने नीलांशी को बताया, कि बाल संग्रहालय में रहने लायक हैं, क्योंकि यह दूसरों को प्रेरित करने में मदद करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज