गुलबर्ग सोसायटी हत्याकांड में बचे फिरोज़ गांधीनगर में अमित शाह को देंगे टक्कर

गुजरात की हाई प्रोफाइल सीट गांधीनगर से आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ चुनौती पेश करने वाले निर्दलीय उम्मीदवार फिरोज़ का कहना है कि वो 17 साल से हक के लिए लड़ रहे हैं और अब इंसाफ की आवाज़ उठाना चाहते हैं.

News18Hindi
Updated: April 16, 2019, 5:19 PM IST
गुलबर्ग सोसायटी हत्याकांड में बचे फिरोज़ गांधीनगर में अमित शाह को देंगे टक्कर
अमित शाह. फाइल फोटो.
News18Hindi
Updated: April 16, 2019, 5:19 PM IST
गुलबर्ग सामूहिक हत्याकांड में बचे दो भाइयों इम्तियाज़ पठान और फिरोज़ खान पठान ने राजनीति में कदम रखा है. आगामी लोकसभा चुनाव में फिरोज़ गांधीनगर सीट से भाजपा के अमित शाह के खिलाफ चुनाव लड़ने जा रहे हैं और इम्तियाज़ खेड़ा सीट से चुनाव मैदान में होंगे.

42 वर्षीय इम्तियाज़ अपना देश पार्टी के प्रत्याशी के तौर पर मैदान में होंगे. इस पार्टी को प्रेशर कुकर चुनाव चिह्न के तौर पर मिला है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ फिरोज़ निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर उतरेंगे. शाह फिलहाल राज्य सभा सांसद हैं और पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं. यह भी गौरतलब है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी गांधीनगर सीट से सांसद रह चुके हैं.

फिरोज़ फिलहाल वीजलपुर में रहते हैं जो गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र के दायरे में ही है जबकि उनके छोटे भाई इम्तियाज़ गोमतीपुर इलाके में रहते हैं. साल 2002 में गोधरा कांड के बाद अहमदाबाद की गुलबर्ग सोसायटी पर एक हिंसक भीड़ ने हमला कर सामूहिक हत्याकांड को अंजाम दिया था. इस हत्याकांड में पठान बंधुओं ने अपनी मां सहित करीब 10 परिजनों की जान जाते हुए देखी थी.

गुलबर्ग केस में अहम गवाह रह चुके इम्तियाज़ का कहना है कि भाजपा और कांग्रेस, किसी ने दंगा पीड़ितों के लिए कुछ नहीं किया. दूसरी ओर, फिरोज़ ने दंगा पीड़ितों के लिए जुटाए गए फंड के गलत इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ और उनके पति जावेद आनंद के खिलाफ केस किया था.

आगामी लोकसभा चुनाव में अपनी दावेदारी को लेकर फिरोज़ ने कहा '2002 से आज तक हमें इंसाफ नहीं मिला है और हम अब भी लड़ रहे हैं. हमें एक एनजीओ ने मदद का भरोसा दिलाया लेकिन उसने भी हमारे नाम पर जुटाए गए फंड का गलत इस्तेमाल किया. हमें इंसाफ नहीं मिला इसलिए हमने चुनाव लड़ने का फैसला किया. अगर ढाई लाख दलित वोट और तीन लाख मुस्लिम वोट हमें मिलते हैं तो कांग्रेस और भाजपा के हारने की नौबत आ सकती है'.

gujarat election, amit shah, gandhinagar lok sabha elections, bjp, lok sabha elections 2019, गुजरात चुनाव, अमित शाह, गांधीनगर लोकसभा सीट, भाजपा, लोकसभा चुनाव 2019
गांधीनगर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं फिरोज़ खान पठान.


फिरोज़ ने ये भी कहा कि उनके हिंदू दोस्तों ने भी उन्हें समर्थन दिया है इसलिए उन्हें ये वोट मिलने की भी उम्मीद है. संसद में गुलबर्ग के दंगा पीड़ितों के हक में आवाज़ उठाने के लिए एक मज़बूत नेता की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए फिरोज़ ने कहा कि 'मैं शांति और सांप्रदायिक सौहार्द्र कायम करना चाहता हूं. लोकसभा में हमारे मुद्दे कोई नहीं उठा रहा. कोई सांसद नहीं है, जो हमारे लिए बात करे. राज्य सभा में कांग्रेस नेता अहमद पटेल ज़रूर हैं, लेकिन उनसे भी मुझे कोई उम्मीद नहीं है'.
Loading...

फिरोज़ ने आगे कहा कि 'अगर जाफरी साहब (दंगों में मारे गए पूर्व कांग्रेस सांसद एहसान जाफरी) होते तो शायद हालात कुछ और होते. वो अकेले थे जिन्होंने हमारे लिए कुछ काम किया. इन तमाम वजहों से मैं सांसद बनना चाहता हूं ताकि मैं अपने जैसे पीड़ितों को इंसाफ दिला सकूं'.

गौरतलब है कि 28 फरवरी 2002 को अहमदाबाद की गुलबर्ग सोसायटी में हुए नरसंहार में करीब 68 लोग मारे गए थे. यह घटना गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस के एस 6 कोच में आगज़नी की घटना के एक दिन बाद हुई थी. और इसके बाद लगभग पूरा गुजरात दंगों की चपेट में आ गया था. उल्लेखनीय है कि गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर आगामी 23 अप्रैल को वोटिंग होना है और 23 मई को मतगणना निर्धारित है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

ये भी पढ़ें
JJP-AAP गठबंधन पर अनिल विज का तंज, 'जीरो में जीरो जोड़ें तो भी नतीजा जीरो ही रहेगा'
लोकसभा चुनाव: JJP और आप में गठबंधन, दुष्यंत बोले-मिलकर प्रदेश में लाएंगे परिवर्तन
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

काम अभी पूरा नहीं हुआ इस साल योग्य उम्मीदवार के लिए वोट करें

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

Disclaimer:

Issued in public interest by HDFC Life. HDFC Life Insurance Company Limited (Formerly HDFC Standard Life Insurance Company Limited) (“HDFC Life”). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI Reg. No. 101 . The name/letters "HDFC" in the name/logo of the company belongs to Housing Development Finance Corporation Limited ("HDFC Limited") and is used by HDFC Life under an agreement entered into with HDFC Limited. ARN EU/04/19/13618
T&C Apply. ARN EU/04/19/13626