• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • GUPKAR ALLIANCE HELD A MEETING AMIDST RUMORS OF BIFURCATION

जम्मू-कश्मीर में कुछ पक रहा है! विभाजन की अफवाहों के बीच 6 महीनों बाद मिला गुपकर गठबंधन

पीएजीडी के मोहम्मद यूसुफ तरिगामी ने कहा है कि गठबंधन का सबसे बड़ा लक्ष्य 'कश्मीर के लोगों की भलाई के लिए काम करना है' और यह किसी भी हाल में बदलेगा नहीं. (फाइल फोटो: PTI)

Jammu-Kashmir Update: प्रशासन ने भी सोशल मीडिया (Social Media) पर जारी अफवाहों का खंडन किया है. रिपोर्ट में सूत्रों के हवालों से बताया गया है कि घाटी में अर्धसैनिक बलों की वापसी एक नियमित प्रक्रिया है.

  • Share this:
    श्रीनगर. खबरें आ रही थीं कि केंद्र जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में विभाजन पर विचार कर रहा है. इसे लेकर 6 महीनों बाद गुपकर गठबंधन (Gupkar Alliance) के सदस्यों ने बुधवार को बैठक की. रिपोर्ट्स के अनुसार, यह बैठक केंद्र शासित प्रदेश में 'मौजूदा अनिश्चितता' पर चर्चा करने के लिए आयोजित की गई थी. खास बात है कि कश्मीर में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की अतिरिक्त कंपनियां कश्मीर पुहंची हैं. इसे लेकर प्रदेश में चर्चा जारी हैं.

    टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, नेशनल कॉन्फ्रेंस और श्रीनगर सांसद फारूक अब्दुल्ला ने इस बात से इनकार किया है कि गठबंधन 'बड़े विकास' की संभावना पर प्रतिक्रिया दे रहा था. घाटी में इस बात को लेकर चर्चा है कि कैसे अर्धसैनिक बलों की 200 कंपनियों का आगमन कैसे इस बात की ओर संकेत करता है कि कश्मीर में कुछ चल रहा है. अब्दुल्लाह ने कहा, 'हम से अब तक जारी अटकलों को लेकर ना ही किसी चीज के बारे में पूछा गया और ना ही जानकारी दी गई है.'

    यह भी पढ़ें: सिंधिया के बाद जितिन प्रसाद ने थामा कमल, 'चौकड़ी' के टूटने से राहुल गांधी की बढ़ी टेंशन, पढ़ें पूरी कहानी

    इसी बीच प्रशासन ने भी सोशल मीडिया पर जारी अफवाहों का खंडन किया है. रिपोर्ट में सूत्रों के हवालों से बताया गया है कि घाटी में अर्धसैनिक बलों की वापसी एक नियमित प्रक्रिया है. ये कंपनियां चार राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के चलते हटाई गई थीं. गुपकर गठबंधन दलों की यह बैठक प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के घर पर बुलाई गई थी.

    पीएजीडी के मोहम्मद यूसुफ तरिगामी ने कहा है कि गठबंधन का सबसे बड़ा लक्ष्य 'कश्मीर के लोगों की भलाई के लिए काम करना है' और यह किसी भी हाल में बदलेगा नहीं. गुपकर गठबंधन का गठन जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को दोबारा हासिल करने के मकसद से किया गया था. सीपीएम के तारिगामी में बुधवार को पीएजीडी का आधिकारिक प्रवक्ता घोषित किया गया. इससे पहले जम्मू-कश्मीर पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के सज्जाद लोन इस भूमिका को निभा रहे थे. उन्होंने बीते साल गठबंधन से नाता तोड़ लिया था.