देश की भावनाओं के हिसाब से चले 'गुपकर गैंग', वरना जनता उसे डुबो देगी: अमित शाह

अमित शाह ने एक के बाद एक ट्वीट्स में कहा कि 'कांग्रेस और गुपकार गैंग जम्मू और कश्‍मीर को वापस आतंक के युग में ले जाना चाहते हैं. (फाइल फोटो)
अमित शाह ने एक के बाद एक ट्वीट्स में कहा कि 'कांग्रेस और गुपकार गैंग जम्मू और कश्‍मीर को वापस आतंक के युग में ले जाना चाहते हैं. (फाइल फोटो)

अपने ट्वीट में अमित शाह ने लिखा, 'गुपकार गैंग भारत के तिरंगे का अपमान करता है. क्‍या सोनिया जी और राहुल गुपकार गैंग के ऐसे कदमों का समर्थन करते हैं? उन्‍हें देश की जनता के सामने अपना स्‍टैंड साफ करना चाहिए.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 11:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के राजनीतिक दलों के गुपकर घोषणापत्र गठबंधन (Gupkar Alliance) में कांग्रेस (Congress) के शामिल होने को लेकर बीजेपी लगातार मुख्य विपक्षी दल पर हमलावर है. अब केंद्रीय गृह मंत्री और बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया और इसे गुपकर गैंग करार दिया. अपने ट्वीट में अमित शाह ने लिखा, 'गुपकर गैंग ग्लोबल हो रहा है! वे चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय ताकतें हस्तक्षेप करें. क्‍या सोनिया जी और राहुल जी गुपकर गैंग के ऐसे कदमों का समर्थन करते हैं? उन्‍हें देश की जनता के सामने अपना स्‍टैंड साफ करना चाहिए.'

अमित शाह ने एक के बाद एक किए सिलसिलेवार ट्वीट्स में लिखा कि 'कांग्रेस और गुपकर गैंग जम्मू-कश्‍मीर को वापस आतंक के युग में ले जाना चाहते हैं. वे दलितों, महिलाओं और आदिवासियों के वे अधिकार छीन लेना चाहते हैं जो हमने अनुच्‍छेद 370 हटाकर दिए हैं. यही वजह है कि देश की जनता उन्‍हें हर जगह रिजेक्‍ट कर रही है.'







गृह मंत्री ने इसके साथ ही लिखा, 'जम्‍मू-कश्‍मीर हमेशा से भारत का आतंरिक हिस्‍सा रहा है. भारत के लोग राष्‍ट्रहित के खिलाफ बने किसी अपवित्र 'ग्‍लोबल गठबंधन' को सहन नहीं करेंगे. या तो गुपकर गैंग देश के मूड के साथ चले नहीं तो लोग उसे डुबो देंगे.'



यह भी पढ़ें: J&K Election: डीडीसी चुनावों में एलायंस के साथ चुनावों में उतरेगी प्रदेश कांग्रेस, सीटों के लिए हुई बातचीत

क्या है गुपकर?
 गुपकर घोषणापत्र नेशनल कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के गुपकर स्थित आवास पर चार अगस्त, 2019 को हुई एक सर्वदलीय बैठक के बाद जारी प्रस्ताव है. इसमें कहा गया था कि पार्टियों ने सर्वसम्मति से फैसला किया है कि जम्मू-कश्मीर की पहचान, स्वायत्तता और उसके विशेष दर्जे को संरक्षित करने के लिए वे मिलकर प्रयास करेंगी.
बता दें कि कांग्रेस हाल ही में कांग्रेस भी गुपकर घोषणापत्र में शामिल हुई है. इसके बाद वह पीडीपी, नेशनल कांफ्रेंस के साथ डीडीसी का चुनाव लड़ेगी. गौरतलब है कि पीडीपी अध्यक्ष मुफ्ती, गठबंधन की उपाध्यक्ष हैं और नेशनल कांफ्रेस के फारूक अब्दुल्ला इसके अध्यक्ष हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज