बंटवारे के बाद पाक से पहली बार भारत पहुंचा गुरू ग्रंथ साहिब का कीर्तन

नगर कीर्तन अटारी बाघा सीमा से होकर यहां पहुंचा. इस नगर कीर्तन में 500 सिख श्रद्धालु शमिल हैं.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 11:02 PM IST
बंटवारे के बाद पाक से पहली बार भारत पहुंचा गुरू ग्रंथ साहिब का कीर्तन
नगर कीर्तन अटारी बाघा सीमा से होकर यहां पहुंचा. इस नगर कीर्तन में 500 सिख श्रद्धालु शमिल हैं.
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 11:02 PM IST
सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव के 550 वें प्रकाश पर्व के मद्देनजर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के ननकाना साहिब जिले से निकाला गया 'नगर कीर्तन' आजादी के बाद पहली बार गुरूवार को भारत पहुंचा. गुरू ग्रंथ साहिब लेकर पाकिस्तान से आ रहा नगर कीर्तन आज दोपहर बाद भारत में प्रवेश किया.

नगर कीर्तन अटारी बाघा सीमा से होकर यहां पहुंचा. इस नगर कीर्तन में 500 सिख श्रद्धालु शमिल हैं. पंजाब सरकार के विभिन्न मंत्री तथा अमृतसर जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने सीमा पर नगर कीर्तन की अगवानी की. विपक्षी शिरोमणि अकाली दल के शीर्ष नेतृत्व भी वहां मौजूद थे.

बता दें कि बुधवार को कीतर्न के लिए ननकाना साहिब में अखंड पाठ शुरू किया गया. जिनका भोग सुबह डाला गया. इसके बाद पांच प्‍यारों के नेतृत्‍व में नगर कीर्तन भारत के लिए रवाना हुआ और ये दोपहर में अटारी-वाघा सीमा होते हुए भारत पहुंचा.

जब नगर कीर्तन यहां पहुंचा तो एसजीपीसी और पुलिस प्रशासन स्‍वागत के लिए पहुंचा. कीर्तन के लिए विशेष रूट तैयार किया गया था और जगह-जगह स्‍वागत के गेट लगे हुए थे. इससे पहले ये कीर्तन 25 जुलाई को निकलता था, लेकिन इसमें बदलाव किया गया था.

ये भी पढ़ें: जानें आज के दिन पाकिस्तान ने क्यों बदल ली थी अपनी राजधानी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 11:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...