Home /News /nation /

पंजाब कांग्रेस की खींचतान को मनीष तिवारी ने बताया 'रोजाना का नाटक', कहा- मछली बाजार से भी बुरा हाल

पंजाब कांग्रेस की खींचतान को मनीष तिवारी ने बताया 'रोजाना का नाटक', कहा- मछली बाजार से भी बुरा हाल

मनीष तिवारी ने एक के बाद एक सिलसिलेवार ट्वीट्स में पंजाब इकाई की समस्याओं के बारे में विस्तार से बताया

मनीष तिवारी ने एक के बाद एक सिलसिलेवार ट्वीट्स में पंजाब इकाई की समस्याओं के बारे में विस्तार से बताया

मनीष तिवारी ने पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत की एक इंटरव्यू का जिक्र करते हुए कहा कि 'कांग्रेस में 40 साल से अधिक समय में मैंने कभी ऐसी अराजकता नहीं देखी'.

    चंडीगढ़. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी (Manish Tewari) ने पंजाब की सत्ताधारी कांग्रेस (Punjab Congress Rift) में जारी सियासी खींचतान को ‘रोजाना के नाटक’ करार देते हुए सवाल किया कि क्या पार्टी को लगता है कि राज्य के लोग इससे ‘घृणित’ नहीं हैं. तिवारी ने पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत की एक इंटरव्यू का जिक्र करते हुए कहा कि ‘कांग्रेस में 40 साल से अधिक समय में मैंने कभी ऐसी अराजकता नहीं देखी’.

    तिवारी ने एक के बाद एक कई सिलसिलेवार ट्वीट्स में पंजाब इकाई की समस्याओं के बारे में विस्तार से बताया और इसे ‘अराजकता’ करार दिया. उन्होंने लिखा, ‘पंजाब कांग्रेस के एक अध्यक्ष द्वारा कांग्रेस आलाकमान की बार-बार खुली अवहेलना, पार्टी नेताओं का बच्चों की तरह एक-दूसरे से खुलेआम झगड़ना… एक-दूसरे के खिलाफ ऐसी गंदी भाषा का उपयोग तो मछली बेचने वाली भी नहीं करती हैं. पिछले 5 महीनों से यह पंजाब कांग्रेस का हाल है’.

    बता दें कि हरीश रावत ने एक हालिया इंटरव्यू में कहा था कि तिवारी ऐसे वरिष्ठ नेता थे, जिनसे उन्हें ‘बहुत लगाव’ था, लेकिन उन्हें पंजाब की जमीनी स्थिति को समझना चाहिए. इसके बाद तिवारी ने एक इंटरव्यू में कहा कि राज्य के प्रभारी इस बात की सराहना करने में विफल रहे हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस सीमावर्ती राज्य के मुद्दों और यहां की राजनीतिक स्थिति को कैसे प्रबंधित किया, या कि उन्होंने एक स्थिर सरकार चलाई.

    Tags: Manish Tewari, Navjot singh sidhu, Punjab Congress

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर