लाइव टीवी

PoK के मुजफ्फराबाद में हाफिज सईद की रैली 14 को, जैश-हिजबुल के आतंकी होंगे शामिल

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 1:43 PM IST
PoK के मुजफ्फराबाद में हाफिज सईद की रैली 14 को, जैश-हिजबुल के आतंकी होंगे शामिल
लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक हाफिज सईद पीओके में रैली करने जा रहा है.

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान (Pakistan) के आतंकी लगातार भारत में घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं लेकिन भारतीय सेना उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दे रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 1:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान (Pakistan) में बैठे आतंकी संगठन भारत के खिलाफ बड़ी साजिश रचने के फिराक में हैं. इसी कड़ी में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक हाफिज सईद (Hafiz Saeed) अब पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (Pakistan Occupied Kashmir) के मुजरफ्फराबाद में 14 अक्टूबर को एक रैली करने जा रहा है. पीओके में होने वाली इस रैली में जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल के ज्यादातर आतंकी शामिल होंगे.

पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन एक बार फिर भारत में जहर घोलने की कोशिश में लगे हुए हैं. लगातार घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकियों को भारतीय सेना पीछे धकेल रही है. यही कारण है कि अब आतंकी संगठनों ने पीओके के लोगों को गुमराह करने की कोशिशें तेज कर दी हैं. आतंकी हाफिज सईद ने 14 अक्टूबर को मुजफ्फराबाद में रैली करने का प्लान तैयार किया है. इस रैली में पाकिस्तान में बैठे ज्यादातर आतंकी संगठन हिस्सा लेने जा रहे हैं.

गौरतलब है कि चार दिन पहले पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में बहुत बड़ी रैली निकली. रैली में मौजूद हजारों भीड़ पाकिस्तान से आजादी के नारे लगा रही थी. उनके हाथों में बैनर और पोस्टर्स थे, जो उनकी आजादी से संबंधित मांग को जाहिर कर रहे थे. रैली पर पुलिस ने जमकर बल प्रयोग किया. आंसू गैस के गोले छोड़े. काफी लोग घायल हो गए. 25 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी की गई.

पीओके में ऐसे विरोध प्रदर्शन लगातार होते रहते हैं. 70 साल पहले सीक्रेट "कराची एग्रीमेंट" के जरिए पाकिस्तान ने पीओके पर पूरी तरह नियंत्रण कर लिया था, जिसके बारे में लंबे समय तक यहां के लोगों को मालूम नहीं हो सका कि इस सीक्रेट एग्रीमेंट है क्या. इस करार के बाद से पाकिस्तान के भेदभाव भरे रवैये और दमन से यहां के लोग खुद को ठगा हुआ पाते हैं.

इसे भी पढ़ें :-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 1:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...