मोदी सरकार ने की थी सस्ती, मेट्रो और बस किराए से महंगी हुई हज यात्रा

जीएसटी को 18 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया था. मोदी सरकार के इस कदम से हज पर जाने वाले करीब दो लाख यात्रियों को राहत मिली थी.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 22, 2019, 10:36 AM IST
मोदी सरकार ने की थी सस्ती, मेट्रो और बस किराए से महंगी हुई हज यात्रा
फोटो- अरब में होटलों का निरीक्षण करते हज कमेटी ऑफ इंडिया के सदस्य डॉ. इफ्तिखार अहमद जावेद और अन्य.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 22, 2019, 10:36 AM IST
हज यात्रियों की सहुलियत के लिए केन्द सरकार ने जीएसटी को 18 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया था. मोदी सरकार के इस कदम से हज पर जाने वाले करीब दो लाख यात्रियों को राहत मिली थी. सरकार के इस कदम से हर एक हज यात्री को लगभग 25 से 30 हजार रुपये का फायदा मिल रहा था.

लेकिन सऊदी अरब सरकार के एक फैसले के चलते हज यात्रियों को अब 25 से 27 हजार रुपये ज्यादा खर्च करने पड़ सकते हैं. सऊदी सरकार के इस कदम से हज यात्रियों को बड़ा झटका लगा है.



मेट्रो और बस का बढ़ा दिया किराया

हज कमेटी ऑफ इंडिया के सदस्य डॉ. इफ्तिखार अहमद जावेद ने बताया, “हज के दौरान यात्री अराफत, मीना, मुजलफा जाते हैं. इसके लिए सऊदी अरब सरकार हाजियों के लिए मेट्रो ट्रेन और बस का इंतजाम करती है. वर्ष 2018 में मेट्रो का किराया 400 रियाल था. वहीं बस का किराया 391 रियाल था.

फोटो- अरब में होटलों का निरीक्षण करते हुए हज कमेटी ऑफ इंडिया के सदस्य.


लेकिन इस साल मेट्रो का किराया 500 रियाल और बस का किराया 800 रियाल कर दिया गया है. इसके चलते हाजियों पर अतिरक्त खर्च का बोझ बढ़ रहा है. एक हज यात्री पर मेट्रो और बस के किराए में करीब 15 हजार रुपये का फर्क आएगा. ”

फोटो- अरब में होटल प्रशासन के साथ हज कमेटी ऑफ इंडिया के सदस्य.

Loading...

रियाल की मजबूती से भी बढ़ा हाजियों का खर्च

हज कमेटी के डॉ. इफ्तिखार अहमद जावेद का कहना है, “असल में हज यात्रा का वक्त आते-आते रियाल के मुकाबले भारतीय रुपया कमजोर हुआ है. 2018 में एक रियाल 17.60 रुपये का था. जो इस बार 18.67 रुपये का हो गया है. रियाल और भारतीय रुपये में अंतर के चलते यात्रियों को करीब 10 से 12 हजार रुपये ज्यादा खर्च करने होंगे.”

फोटो- अरब में होटल प्रशासन के साथ हज कमेटी ऑफ इंडिया के सदस्य.


ग्रीन और अजीजिया कैटेगिरी में ये आएगा अंतर

डॉ. इफ्तिखार अहमद जावेद बताते हैं, “हज यात्रा के दौरान हज यात्री दो कैटेगिरी ग्रीन और अजीजिया में रहते हैं. ग्रीन कैटेगिरी वाले हज यात्रियों को मक्का और मदीना में नजदीक के होटल मिलते हैं. साल 2018 में ग्रीन कैटेगिरी का कुल किराया 2,51,950 रुपये था. जो अब बढ़कर 2,78,650 रुपये हो गया है. वहीं 2018 में अजीजिया कैटेगिरी का किराया 2,17,800 रुपये था. लेकिन अब 2019 में अजीजिया के लिए हज यात्रियों को 2,41,600 रुपये देने होंगे.”

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी के इस कदम से कश्मीर की मुस्लिम महिलाएं भी हैं खुश

मोदी सरकार का मुस्लिम लड़कियों को एक और बड़ा तोहफा

आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का ये है ‘मिशन कश्मीर’
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...