Home /News /nation /

Video: बेअदबी मामले पर भड़के नवजोत सिंह सिद्धू, बोले- दोषियों को फांसी पर लटकाना चाहिए

Video: बेअदबी मामले पर भड़के नवजोत सिंह सिद्धू, बोले- दोषियों को फांसी पर लटकाना चाहिए

 कांग्रेस नेता ने कहा कि अमृतसर में हुई यह घटना एक समुदाय को खत्म करने की साजिश थी. (फोटो साभार-ट्विटर वीडियो)

कांग्रेस नेता ने कहा कि अमृतसर में हुई यह घटना एक समुदाय को खत्म करने की साजिश थी. (फोटो साभार-ट्विटर वीडियो)

Guru Granth Sahib sacrilege, Navjot Singh Sidhu: नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि कुछ कट्टरपंथी ताकतें पंजाब में शांति को भंग करने की कोशिश में लगी हुई हैं. यह ऐसा समय है जब हमें एकता दिखानी होगी क्योंकि कट्टरपंथी ताकतें हमारी एकता को भंग कर रही हैं. उन्होंने कहा कि जब भी देश में एक धर्म तो उच्च दिखाया जाता है और दूसरे धर्म को निम्न दिखाने की कोशिश होती है तो पंजाब हमेशा इसका विरोध करता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: पंजाब में विधानसभा चुनाव (Punjab Elections 2022) के कुछ ही महीने बचे हैं. चुनाव से पहले राज्य में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी (Guru Granth Sahib Sacrilege Incident) के मामलों ने राज्य के माहौल को गर्म कर दिया है. पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में पवित्र स्थल पर बेअदबी के प्रयास की कठोर निंदा करते हुए कहा कि आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए. राज्य कांग्रेस प्रमुख मलेरकोटला में एक रैली को संबोधित कर रहे थे.

    नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि कुछ कट्टरपंथी ताकतें पंजाब में शांति को भंग करने की कोशिश में लगी हुई हैं. यह ऐसा समय है जब हमें एकता दिखानी होगी क्योंकि कट्टरपंथी ताकतें हमारी एकता को भंग कर रही हैं. उन्होंने कहा कि जब भी देश में एक धर्म तो उच्च दिखाया जाता है और दूसरे धर्म को निम्न दिखाने की कोशिश होती है तो पंजाब हमेशा इसका विरोध करता है.

    सिद्धू ने कहा कि पंजाब का हर एक नागरिक समान है. अगर किसी भी तरह से बेअदबी (Golden Temple incident) की घटना होती है फिर चाहे वह गुरु ग्रंथ साहिब की हो, गीता की हो या फिर कुरान की हो उसमें शामलि दोषियों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए.

    यह भी पढ़ें- स्वर्ण मंदिर कथित बेअदबी मामले में SIT का गठन, 2 दिन में आएगी रिपोर्ट: डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा

    स्थानीय विधायक और कैबिनेट मंत्री रजिया सुल्ताना और उनके पति और पूर्व डीजीपी मोहम्मद मुस्तफा के साथ, कांग्रेस नेता ने कहा कि “अमृतसर में हुई यह घटना एक समुदाय को खत्म करने की साजिश” थी, लेकिन हमें इस तरह की साजिशों को नाकाम करना है जिसके लिए हिंदुओं, सिखों और मुसलमानों को एकता दिखानी होगी.

    सिद्धू अपनी बात शुरू करने ही वाले थे तभी रैली में मौजूद जमीन प्राप्ति संघर्ष समिति (जेडपीएससी) के सदस्यों और विरोध कर रहे आकांक्षी शिक्षकों ने नारेबाजी शुरू कर दी. प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए पुलिस को आना पड़ा. प्रदर्शनकारी अनुसूचित जाति के समुदाय के लिए आरक्षित भूमि और नौकरियों की मांग कर रहे थे.

    Tags: Amritsar, Guru Granth Sahib, Navjot singh sidhu, Punjab Elections 2022, Punjab news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर