किसान के समर्थन में RPL प्रमुख हनुमान बेनीवाल, तीन संसदीय समितियों से दिया इस्तीफा

बेनीवाल ने कहा कि 26 दिसंबर को वे दो लाख किसानों व जवानों के साथ शाहजहांपुर बॉर्डर होते हुए दिल्ली कूच करेंगे.

बेनीवाल ने कहा कि 26 दिसंबर को वे दो लाख किसानों व जवानों के साथ शाहजहांपुर बॉर्डर होते हुए दिल्ली कूच करेंगे.

Rashtriya Loktantrik Party chief Hanuman Beniwal: हनुमान बेनीवाल ने कहा कि 26 दिसंबर को वह दो लाख किसानों के साथ दिल्ली की ओर कूच करेंगे तथा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में बने रहने के बारे में भी फैसला उसी दिन होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 19, 2020, 7:07 PM IST
  • Share this:
जयपुर/नई दिल्ली. किसानों के आंदोलन (Farmer Protest) के सहयोग और तीनों कृषि कानूनों (Farm Law 2020) के विरोध में एनडीए के सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (Rashtriya Loktantrik Party) के अध्यक्ष व सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) ने ससंद की तीन समितियों की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. बेनीवाल ने अपना इस्तीफा लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (OM Birla) को भेजा है. जानकारी के मुताबिक अपने इस्तीफे में हनुमान बेनीवाल ने कृषि कानूनों को विरोधी बताया है.

बेनीवाल ने कहा कि 26 दिसंबर को वह दो लाख किसानों के साथ दिल्ली की ओर कूच करेंगे तथा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में बने रहने के बारे में भी फैसला उसी दिन होगा. बिरला को भेजे पत्र में बेनीवाल ने संसद की उद्योग संबंधी स्थायी समिति, याचिका समिति व पेट्रोलियम व गैस मंत्रालय की परामर्शदात्री समिति से इस्तीफा देने बात की है.



बेनीवाल के अनुसार उन्होंने सदस्य के रूप में जनहित से जुड़े अनेक मामलों को उठाया, लेकिन उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई, इसलिए वह किसान आंदोलन के समर्थन में व लोकहित के मुद्दों को लेकर संसद की तीन समितियों के सदस्य पद से त्याग पत्र दे रहे हैं. बेनीवाल ने यहां आरएलपी की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक के बाद यह घोषणा की.
इसके अलावा उन्होंने अपने इस्तीफा पत्र में एक सीमेंट कंपनी को गलत तथ्य के आधार पर पर्यावरण स्वीकृति देने और राजस्थान से निकलने वाले कच्चे तेल से राज्य को मिलने वाली रॉयल्टी से राजस्थान को वंचित रखने पर भी नाराजगी जताई. उन्होने बताया कि इन दोनों ही मुद्दों को मैंने समितियों के समक्ष रखा, लेकिन उस पर कोई कार्यवाही अब तक नहीं हुई. ऐसे में मेरा मानना है कि इन समितियों का कोई औचित्य नहीं हैं.

Youtube Video


ये भी पढ़ेंः- मिदनापुर से अमित शाह की हुंकार, बोले- अकेली रह जाएंगी ममता, 200 सीटों के साथ बनाएंगे सरकार | 10 खास बातें



इन तीन समितियों से दिया इस्तीफा

हनुमान बेनीवाल ने उद्योग संबंधि स्थायी समिति, याचिका समिति और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की परामर्शदात्रि समिति से इस्तीफा दिया हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज