टीम इंडिया के लिए टी20 क्रिकेट खेलने को तैयार हरभजन सिंह! 2016 में खेला था आखिरी मैच

टीम इंडिया के लिए टी20 क्रिकेट खेलने को तैयार हरभजन सिंह! 2016 में खेला था आखिरी मैच
हरभजन सिंह आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करके टीम में वापसी करना चाहते हैं (फाइल फोटो )

हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने कहा कि वो आईपीएल (Ipl) में लगातार अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे हैं

  • Share this:
नई दिल्‍ली. लंबे समय से टीम इंडिया (Team India) से बाहर चल रहे भारत के स्‍टार गेंदबाज हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) टी20 क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हैं. उनका मानना है कि वो इस फॉर्मेट के लिए पूरी तरह से फिट हैं. 2016 के बाद से ही टीम में वापसी करने की कोशिश कर रहे हरभजन सिंह ने कहा कि वह अपने अनुभव से इस फॉर्मेट में अच्‍छा कर सकते हैं.

क्रिकइंफो के अनुसार ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा कि वह तैयार हैं. आईपीएल गेंदबाजों के लिहाज से मुश्किल भरा टूर्नामेंट है, क्‍योंकि यहां के ग्राउंड छोटे है. यहां वर्ल्‍ड क्रिकेट के बड़े खिलाड़ी खेलते हैं. अगर वह इसमें अच्‍छी गेंदबाजी कर सकते हैं तो इस तरह से वह भारत के लिए टी20 क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हैं. भारत के स्‍टार गेंदबाज ने कहा कि जिन बल्‍लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी करना चुनौतीपूर्ण है और आप आईपीएल में उनके खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हैं तो आप इंटरनेशनल स्तर पर भी अच्‍छा कर सकते हैं. हरभजन ने कहा कि उन्‍होंने मुख्‍य रूप से पावर प्‍ले और मिडिल ओवर में गेंदबाजी की और विकेट लिए.

आईपीएल टीम की तरह क्‍वालिटी प्‍लेयर्स नहीं
आईपीएल में मुंबई इंडियंस के बाद चेन्‍नई सुपर किंग्‍स का प्रतिनिधित्‍व करने वाले हरभजन सबसे ज्‍यादा विकेट लेने के मामले में संयुक्‍त रूप से तीसरे पायदान पर है. हरभजन का मानना है कि टी20 के लिहाज से आईपीएल कठिन टूर्नामेंट है और वे इसमें प्रदर्शन करके टीम इंडिया में वापसी करना चाहते हैं. उन्‍होंने कहा कि इंटरनेशनल क्रिकेट में आईपीएल की तरह क्‍वालिटी प्‍लेयर्स नहीं है, जहां हर टीम में टॉप छह खिलाड़ी शानदार हैं. उन्‍होंने कहा कि ऑस्‍ट्रेलिया, इंग्‍लैंड और भारत के पास अच्‍छी बैटिंग लाइन अप है और अगर वे जॉनी बेयरस्‍टो, डेविड वॉर्नर के विकेट आईपीएल में ले सकते हैं तो क्‍या इंटरनेशनल क्रिकेट में ऐसा नहीं कर सकते. उन्‍होंने कहा कि यह उनके हाथ में नहीं है. मौजूदा भारतीय सेट अप में कोई भी आपसे बात नहीं करता.
बूढ़ा बताने लगे


हरभजन ने कहा कि प्रदर्शन के बावजूद चयनकर्ता ध्‍यान नहीं देते और इससे दुख होता है. चयनकर्ताओं को लगता हैं कि वे बूढ़े हो गए हैं. वे घरेलू क्रिकेट नहीं खेलते. पिछले चार साल से चयनकर्ताओं ने उनकी तरफ देखा तक भी नहीं.

पृथ्वी शॉ ने बताया क्रिकेट की तकनीक नहीं बल्कि सचिन इस मुद्दे पर देते हैं सलाह

पीटरसन ने कोहली को ट्रोल करने की कोशिश की, मिला ऐसा जवाब की बोलती हो गई बंद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading