हार्दिक ने जेल में शुरू की भूख हड़ताल, समर्थकों ने बसें फूंकीं

हार्दिक पटेल ने ओबीसी श्रेणी के तहत सरकारी नौकरियों और शिक्षा के क्षेत्र में अपने समुदाय के लिए आरक्षण की मांग करते हुए आज सूरत के लाजपोरे जेल में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की शुरआत की।

भाषा
Updated: February 19, 2016, 12:59 PM IST
हार्दिक ने जेल में शुरू की भूख हड़ताल, समर्थकों ने बसें फूंकीं
हार्दिक पटेल ने ओबीसी श्रेणी के तहत सरकारी नौकरियों और शिक्षा के क्षेत्र में अपने समुदाय के लिए आरक्षण की मांग करते हुए आज सूरत के लाजपोरे जेल में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की शुरआत की।
भाषा
Updated: February 19, 2016, 12:59 PM IST
अहमदाबाद। पटेल समुदाय को आरक्षण देने के लिए आंदोलन चलाने वाले हार्दिक पटेल ने ओबीसी श्रेणी के तहत सरकारी नौकरियों और शिक्षा के क्षेत्र में अपने समुदाय के लिए आरक्षण की मांग करते हुए आज सूरत के लाजपोरे जेल में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की शुरआत की। हार्दिक राजद्रोह के दो मामलों में सितंबर से लाजपोरे जेल में बंद हैं।

हार्दिक ने सरकार के सामने मांगे रखते हुए कहा कि भूख हड़ताल तभी ख़त्म होगी जब जेल मैं कैद पाटीदार युवा रिहा होंगे और जब तक आरक्षण नहीं मिलेगा।

हार्दिक ने यह कदम उस समय उठाया है जब उनके करीबी सहयोगियों ने आरक्षण मुद्दे पर गुजरात में बीजेपी सरकार के साथ बातचीत करने की इच्छा व्यक्त की। हार्दिक के तीन करीबी सहयोगियों- केतन पटेल, चिराग पटेल और दिनेश बंभानिया- ने मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल को एक पत्र लिखा और बातचीत करने की इच्छा व्यक्त की।

हार्दिक के ये तीन सहयोगी भी राजद्रोह के मामले में सलाखों के पीछे बंद हैं। वहीं जेल के भीतर हार्दिक की भूख हड़ताल से नाराज लोगों ने सूरत मैं स्टेट ट्रांसपोर्ट की दो बसें जलाई

hardik-surat

चूंकि पत्र पर हार्दिक के हस्ताक्षर नहीं थे इसलिए ऐसी अटकलें लगाई जा रही है कि 22 वर्षीय हार्दिक को यह महसूस हुआ होगा कि उसे अपने ही लोगों ने धोखा दिया है और फिर उन्होंने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू करने का निर्णय लिया होगा। घटनाक्रम की पुष्टि करते हुए लाजपोरे जेल के जेलर एस एल दौसा ने मीडिया को बताया कि हार्दिक ने आज सुबह से भोजन करना बंद कर दिया है।
News18 Hindi पर Bihar Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Nation News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर