अहमदाबाद में हार्दिक पटेल की क्रांति रैली के लिए पीएम जैसी सुरक्षा व्यवस्था, आनंदी बेन सरकार की कड़ी परीक्षा

पटेल समुदाय यानी पादीटारों को ओबीसी कैटेगरी के तहत आरक्षण देने की मांग के समर्थन में पाटीदार अनामत आंदोलन समति के फायरब्रंड नेता हार्दिक पटेल आज अहमदाबाद के जीएमडीसी मैदान में क्रांति रैली कर रहे हैं.

पटेल समुदाय यानी पादीटारों को ओबीसी कैटेगरी के तहत आरक्षण देने की मांग के समर्थन में पाटीदार अनामत आंदोलन समति के फायरब्रंड नेता हार्दिक पटेल आज अहमदाबाद के जीएमडीसी मैदान में क्रांति रैली कर रहे हैं.

पटेल समुदाय यानी पादीटारों को ओबीसी कैटेगरी के तहत आरक्षण देने की मांग के समर्थन में पाटीदार अनामत आंदोलन समति के फायरब्रंड नेता हार्दिक पटेल आज अहमदाबाद के जीएमडीसी मैदान में क्रांति रैली कर रहे हैं.

  • News18
  • Last Updated: August 25, 2015, 9:12 AM IST
  • Share this:

पटेल समुदाय यानी पादीटारों को ओबीसी कैटेगरी के तहत आरक्षण देने की मांग के समर्थन में पाटीदार अनामत आंदोलन समति के फायरब्रंड नेता हार्दिक पटेल आज अहमदाबाद के जीएमडीसी मैदान में क्रांति रैली कर रहे हैं.

लगभग 25 लाख लोगों के जुटने के आह्वान ने गुजरात की आनंदी बेन सरकार की नींद उड़ा दी है. 65 लाख की आबादी वाले अहमदाबाद में 25 लाख लोगों के आने का मतलब है पूरा वडोदरा अहमादाबाद में समा जाएगा

हार्दिक पटेल की पाटीदार अनामत रैली की पल-पल की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

इसे भांपते हुए बुलियन और जूलरी कारोबारियों ने मंगलवार को कारोबार बंद रखने का फैसला किया है. इससे लगभग 55 करोड़ रूपए के नुकसान का अंदाज लगाया जा रहा है.
इस बीच पुलिस प्रशासन ने रैली के मद्देनजर तगड़े बंदोबस्त किए हैं. अहमदाबाद के पुलिस कमिश्नर शिवानंद झा का कहना है कि आम तौर पर प्रधानमंत्री की रैली में इस तरह की सुरक्षा व्यवस्था की जाती है.



इस बीच गुजरात की सीएम आनंदी बेन ने संविधान और सुप्रीम कोर्ट का हवाला देते हुए पाटीदारों यानी पटेल समुदाय को आरक्षण देने से इनकार किया है. हार्दिक पटेल ने सरदार पटेल के मुखौटे के आंदोलन का चेहरा बनाने की कोशिश की है.

इसे देखते हुए आनंदी बेन ने यहां तक कहा कि सरदार पटेल आरक्षण का विरोध करते रहे लेकिन हार्दिक पटेल इसे नहीं मानते.

हार्दिक ने यहां तक कहा कि जब आतंकवादी के लिए सुप्रीम कोर्ट रात तीन बजे सुनवाई कर सकता है तो पटेलों के लिए व्यवस्था क्यों नहीं बन सकती.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज