राफेल के लिए खतरा बन सकते हैं एयरफोर्स स्टेशन के आसपास के पक्षी, एयरफोर्स की बढ़ी चिंता

इससे पहले अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर गुरुवार सुबह वायुसेना के जगुआर विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी.

News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 7:46 PM IST
राफेल के लिए खतरा बन सकते हैं एयरफोर्स स्टेशन के आसपास के पक्षी, एयरफोर्स की बढ़ी चिंता
अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर वायुसेना के जगुआर विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी.
News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 7:46 PM IST
भारतीय वायुसेना के इस साल सितंबर में फ्रांस से लड़ाकू विमान राफेल मिलने वाला है. वहीं जहां इसका बेस होगा वहां पक्षी विमाम के लिए खतना बनते जा रहे हैं. मिली जानकारी के अनुसार हरियाणा स्थित अंबाला एयरफोर्स स्टेशन , राफेल का होम बेस होगा. हालांकि इस फ्रंटलाइन एयरबेस के आसपस बहुत से पक्षी उड़चे हैं. वायुसेना पक्षियों से सुरक्षा को लेकर काफी चिंतित है.

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वायुसेना के सूत्रों ने जानकारी दी कि एयरबेस के आसपास मौजूद घरों में लोगों ने कबूतर पाल रखे हैं जो विमानों के लिए संकट बन सकते हैं. इसकी शिकायत स्थानीय प्रशासन भी की गई है.

गुरुवार सुबह हुआ था हादसा

इससे पहले अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर  गुरुवार सुबह वायुसेना के जगुआर विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी. जगुआर विमान के इंजन से एक पक्षी टकरा गया जिससे विमार का इंजन फेल हो गया था. हालांकि पायलट की सूझबूझ से विमान को सुरक्षित रूप से उतार लिया गया.

इस दौरान विमान का फ्यूल टैंक रिहायशी इलाके में गिरा. जैसे ही यह फ्यूल टैंक गिरे तो जोरदार धमाके से लोग सहम गए.

यह भी पढ़ें:  नहीं बदला राहुल गांधी का रुख, बोले-राफेल सौदे में हुई चोरी



इस घटना के बाद एयरफोर्स के अंदर ही काले धुएं के बादल छा गए और फिर एम्बुलेंस, फायर ब्रिगेड और एयरफोर्स के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे थे.

हाल ही में गुजरात में भी एक जगुआर एयरक्राफ्ट हादसे का शिकार हो गया था. एयरक्राफ्ट ने जामनगर से उड़ान भरी थी. हादसे में पायलट संजय चौहान शहीद हो गए. संजय चौहान वायुसेना में एयर कमोडोर के पद पर थे. जगुआर ने रूटीन ट्रेनिंग मिशन के दौरान जामनगर से सुबह उड़ान भरी थी. विमान हादसा इतना बड़ा था कि उसका मलबा कई किलोमीटर तक फैल गया.

यह भी पढ़ें:  4 सालों में भारतीय वायुसेना ने खोए 44 एयरक्राफ्ट, 46 की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 6, 2019, 7:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...