• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • हरियाणा में सबसे बड़ी पार्टी बनी BJP, फिर बहुमत कुछ दूर, क्या JJP बनेगी किंगमेंकर?

हरियाणा में सबसे बड़ी पार्टी बनी BJP, फिर बहुमत कुछ दूर, क्या JJP बनेगी किंगमेंकर?

डिजाइन फोटो.

डिजाइन फोटो.

हरियाणा (Haryana) में अब सरकार बनाने की चाबी दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) की पार्टी जेजेपी (JJP) और निर्दलीय सात विधायकों के हाथों में आ गई है. हरियाणा की 90 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी 40 सीट पाकर बहुमत से छह सीट पिछड़ गई है.

  • Share this:
    चंडीगढ़. हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 (Haryana Assembly Elections 2019) के नतीजे (Result) घोषित हो चुके हैं. चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद राज्य में बीजेपी (BJP) सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, लेकिन अभी बहुमत कुछ से दूर है.

    हरियाणा (Haryana) में अब सरकार बनाने की चाबी दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) की पार्टी जेजेपी (JJP) और निर्दलीय सात विधायकों के हाथों में आ गई है. हरियाणा की 90 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी 40 सीट पाकर बहुमत से छह सीट पिछड़ गई है.

    पार्टी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने संकेत दिया कि बीजेपी अगली सरकार के लिए दावा पेश करेगी. बीजेपी के पास निवर्तमान सदन में 47 सीट हैं और उसने लोकसभा चुनाव में राज्य की सभी 10 सीटें जीती थीं. पार्टी को सदन में साधारण बहुमत के लिए 46 सदस्यों का समर्थन चाहिए.

    जेजेपी 10 सीटों की जीत के साथ बनी किंगमेकर
    हरियाणा में अब सभी की आंखें जननायक जनता पार्टी (JJP) पर टिकी हुई हैं, जिसकी स्थापना पिछले साल हिसार से पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने की थी. चौटाला खानदान में आपसी कलह के बाद इनेलो में दो फाड़ होने के चलते दुष्यंत ने जेजेपी का गठन किया था. राज्य विधानसभा चुनाव में जेजेपी की झोली में 10 सीटें आई हैं, जबकि सात पर निर्दलीयों की किस्मत खुली है. कुशल राजनीतिज्ञ की तरह दुष्यंत ने अभी इस बात को लेकर अपने पत्ते नहीं खोलें कि वह राज्य सरकार बनाने के लिए बीजेपी को समर्थन देंगे या कांग्रेस को.

    कांग्रेस ने दोगनी बढ़त के साथ 31 सीटें जीती
    हरियाणा में कांग्रेस ने अधिकतर एग्जिट पोल के पूर्वानुमानों को गलत साबित करते हुए 31 सीटों पर जीत हासिल की, 2014 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 15 सीटों पर ही जीत दर्ज की थी.

    हुड्डा ने गैर BJP दलों को सरकार बनाने को कहा
    हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने रोहतक के अपने पारंपरिक क्षेत्र गढ़ी सांपला किलोई से चुनाव जीता है. इसके बाद उन्होंने गुरुवार दोपहर में एक प्रेस कॉन्फ्रेस की, जिसमें गैर बीजेपी दलों से अगली सरकार बनाने के लिए हाथ मिलाने की अपील की है.

    भाजपा ने जनादेश को 'विकास' की जीत बताया
    वहीं भाजपा ने हरियाणा के जनादेश को 'विकास एजेंडे की जीत' बताकर इसकी सराहना की है. जबकि विपक्षी दलों ने इसे भगवा दल की 'नैतिक हार' करार दिया है. विपक्षी दलों ने दावा किया कि 'जब लोग भूख से मर रहे हों तो अति राष्ट्रवाद नहीं चल सकता.'

    सीएम मनोहर लाल आज ले सकते हैं सीएम पद की शपथ
    खबर है कि सीएम मनोहर लाल खट्टर शुक्रवार सुबह 9:30 बजे राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य से मुलाकात कर इस्तीफा सौंपेंगे. इस्तीफा सौंपने के तुरंत बाद मुख्यमंत्री दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे. जानकारी के मुताबिक खट्टर दिल्ली में हरियाणा के निर्दलीय विधायकों से मुलाकात करेंगे.


    शुक्रवार शाम को राजधानी चंडीगढ़ में शपथ ग्रहण समारोह होगा. शपथ से पहले विधायक दल की बैठक होगी. जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार शाम को सिर्फ मनोहर लाल खट्टर सीएम पद की शपथ लेंगे. बाकी मंत्रियों का शपथग्रहण बाद में होगा.

    ये भी पढ़ें- 

    बड़ी जीत नहीं लेकिन बीजेपी-शिवसेना की महाराष्ट्र में वापसी तय, हरियाणा पर पेंच

    हरियाणा और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रियों पर जनता ने भरोसा किया: PM मोदी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज