• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • हरियाणा सरकार का दावा, जल्द ही सड़कें होंगी कैटल फ्री

हरियाणा सरकार का दावा, जल्द ही सड़कें होंगी कैटल फ्री

 हरियाणा की सड़कों पर अभी भी आवारा गाय-बैल घूम रहे हैं और इन्हें पकड़ने के लिए मशक्कत की जा रही है.

हरियाणा की सड़कों पर अभी भी आवारा गाय-बैल घूम रहे हैं और इन्हें पकड़ने के लिए मशक्कत की जा रही है.

हरियाणा सरकार की तरफ से सड़क पर घूम रहे आवारा और बेसहारा गायों और बैलों को पकड़ने की डेडलाइन 15 अगस्त थी.

  • Share this:
हरियाणा के करनाल के नगर निगम के कर्मचारी आजकल गायों के पीछे दौड़ते और उनको पकड़ने की मशक्कत करते दिखाई दे रहे हैं. हरियाणा सरकार की तरफ से सड़क पर घूम रहे आवारा और बेसहारा गायों और बैलों को पकड़ने की डेडलाइन 15 अगस्त थी और दावा था कि हरियाणा की सड़कों को कैटल फ्री कर दिया जाएगा यानि सड़कों पर घूमने वाले आवारा और बेसहारा गायों और बैलों को पकड़कर नंदीशालाओं और गौशालाओं में छोड़ दिया जाएगा.

बाद में इस डेडलाइन को बढ़ाकर 17 अगस्त कर दिया गया था लेकिन इसके बावजूद हरियाणा की सड़कों पर अभी भी आवारा गाय-बैल घूम रहे हैं और इन्हीं को पकड़ने के लिए मशक्कत की जा रही है.


हरियाणा के अलग-अलग शहरों की सड़कों पर आजकल कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिलता है. नगर निगम के कर्मचारी रोजाना अपनी गाड़ियों और रस्सियों के साथ निकलते हैं और सड़कों पर घूम रहे आवारा और बेसहारा गायों और बैलों को उठाकर नंदीशाला और गौशालाओं में पहुंचा देते हैं. इसके लिए इन कर्मचारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है.

सड़क पर घूम रहे इन गाय-बैलों को पकड़ना बेहद ही मुश्किल है और नगर निगम के कर्मचारियों के भी पसीने छूट जाते हैं. लेकिन हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर की तरफ से निर्देश है कि हरियाणा की सड़कों को जल्द से जल्द कैटल फ्री किया जाए और इसी वजह से नगर निगम के सीनियर अधिकारी खुद इस पूरे कैंपेन की अगुवाई करने में लगे हैं.

कूड़े के ढेर के पास चलता है नगर निगम का अभियान
हरियाणा में अभी भी कई लोग ऐसे हैं जो की गायों को दूध के लिए पाल लेते हैं लेकिन जब गाय दूध देना बंद कर देती है तो उसे सड़कों पर बेसहारा छोड़ दिया जाता है और कई गरीब परिवार ऐसे हैं जो सुबह के वक्त अपनी गायों को सड़कों पर खाने की तलाश के लिए छोड़ देते हैं और बाद में शाम के वक्त अपने घर में लाकर उनका दूध निकाल लेते हैं.

ऐसे लोगों के खिलाफ भी नगर निगम अब सख्ती कर रहा है और जो पालतू गाय सड़कों पर घूम रही होती हैं उनको पकड़ कर भी गौशालाओं में पहुंचा दिया जाता है और उसके बाद गाय के मालिक पर जुर्माना लगाकर उसका चालान काटने के बाद ही गाय को छोड़ा जाता है.

हरियाणा में ऐसी जगह जहां पर कूड़े के ढेर है वहां पर काफी गाय खाने की तलाश में भटकती हैं और नगर निगम का अभियान भी इन कूड़े के ढेरों के आस-पास ही चलता रहता है जहां से गायों और बैलों को पकड़कर नंदीशाला और गौशालाओं में पहुंचाया जाता है.

ये है हरियाणा सरकार की बड़ी चुनौती
लेकिन हरियाणा सरकार के सामने बड़ी चुनौती ये है कि जब इन गायों और बैलों को पकड़ लिया जाता है तो इन को छोड़ा कहां जाए. सरकार का दावा है कि तमाम शहरों और गांवों में नंदीशालाएं और गौशालाएं मौजूद हैं और इनका रख-रखाव बखूबी कर सकती हैं.

लेकिन ये भी सच्चाई है कि हरियाणा की कई गौशालाओं और नंदीशालाओं गायों के मरने की खबरें अक्सर आती रहती हैं. इसी वजह से सरकारी और प्राइवेट संस्थाओं की तरफ से चलाई जा रही गौशालाओं में सरकार की मदद से इन गायों और बैलों को रखने के लिए अलग से इंतजाम करना शुरू कर दिए गए हैं.


हरियाणा सरकार ने दावा तो कर दिया है कि हरियाणा की सड़कों को कैटल फ्री करके बेसहारा और आवारा गायों और बैलों को सड़कों से हटाकर नंदीशालाओं और गौशालाओं में रखा जाएगा लेकिन पहले से ही अव्यवस्था और बदइंतजामी से जूझ रही इन गौशालाओं और नंदीशालाओं की सरकारी मदद को लेकर अब तक कोई भी प्लान सरकार की तरफ से नहीं बनाया गया है. इसी वजह से इस सरकारी दावे को लेकर कई तरह की आशंकाएं उठना भी लाजमी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज