हक के लिए कभी उठाया था हथियार, अब लड़ेंगी लोकसभा चुनाव

हक के लिए कभी उठाया था हथियार, अब लड़ेंगी लोकसभा चुनाव
प्रमिला रानी ब्रह्म

बीजेपी के मित्र दल बीपीएफ ने पार्टी के लिए अहम कोकराझाड़ सीट के उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2019, 10:37 PM IST
  • Share this:
(तूलिका देवी)

लोकसभा चुनाव का दिन तय होने के बाद से चुनावी उम्मीदवार को लेकर असम की सारी पार्टियों में काफी असमंज है. मिशन दिल्ली की रणनीति को लेकर कांग्रेस, बीजेपी, एआईईयूडीएफ या असम गण परिषद रोज चर्चा कर रही हैं. प्रदेश के किसी भी राजनीतिक दल ने अब तक अपने सभी उम्‍मीदवारों की सूची जाहिर नहीं की है. इसी बीच मंगलवार को बीजेपी के मित्र दल बीपीएफ ने पार्टी के लिए अहम कोकराझाड़ सीट के उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी है. ये नाम किसी और का नहीं बल्कि राज्य की समाज कल्याणमंत्री प्रमिला रानी ब्रह्म का है.

सन् 1991 से अब तक लगातार 6 बार की विधायिका प्रमिला रानी ब्रह्म का पॉलिटिकल कॅरियर काफी अच्छा रहा है और वे साल 2011 से 2014 तक कांग्रेस के तरुण गोगोई सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुकी हैं. साल 2014 में सर्बानंद सोनोवाल के नेतृत्व में बनी बीजेपी सरकार को बीपीएफ ने समर्थन देने का निर्णय लिया और वे तब से अब तक राज्य की कैबिनेट मंत्री हैं. बीपीएफ प्रधान हग्रामा महिलारी की तरह उनकी वरिष्ठ सहयोगी प्रमिला रानी का इतिहास भी डिस्बेन्डेड उग्रवादी संगठन बीएलटी से जुड़ा रहा है. किसी जमाने में हथियारो की भाषा में यकीन करने वाली प्रमिला रानी ब्रह्म आज भी बोड़ो समुदाय के हक के लिए लड़ती हैं.



इसे भी पढ़ें :- कांग्रेस में शामिल हुए हार्दिक पटेल, राहुल गांधी ने इस तरह किया वेलकम
फर्क बस इतना है कि आज वे बुलेट नहीं बल्कि बेलट की लड़ाई में विश्वास रखती हैं. असम की राजनीति में अपने तीन दशकों के शानदार सफर के बाद प्रमिला रानी ब्रह्म अब दिल्ली में कुर्सी का किस्सा लिख पाती हैं या नहीं ये तो 23 मई को ही सामने आएगा. फिलहाल 2019 की लोकसभा चुनाव के लिए असम से पहली और सबसे मजबूत महिला उम्मीदवार के तौर पर उनका नाम काफी चर्चा में है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading