बीजेपी में शामिल होने के लिए नहीं दिया कोई प्रार्थना पत्र: अमर सिंह

भाषा
Updated: September 16, 2017, 7:51 PM IST
बीजेपी में शामिल होने के लिए नहीं दिया कोई प्रार्थना पत्र: अमर सिंह
बीजेपी में शामिल होने के लिए नहीं दिया कोई प्रार्थना पत्र: Amar Singh (File: PTI)
भाषा
Updated: September 16, 2017, 7:51 PM IST
वरिष्ठ नेता अमर सिंह ने शनिवार को कहा कि वो बीजेपी में शामिल होने की किसी पेशकश से इनकार नहीं करेंगे, लेकिन उन्होंने बीजेपी से जुड़ने के लिए कोई प्रार्थना पत्र भी नहीं दिया है.

समाजवादी पार्टी से निष्कासित सिंह ने यहां एक फिल्म के विशेष शो में शामिल होने के दौरान संवाददाताओं से कहा, 'बीजेपी बहुत बड़ा दल है. मैं ये नहीं कहूंगा कि यदि मुझे अवसर मिलेगा तो मैं बीजेपी में नहीं जाऊंगा. लेकिन मुझे ये अवसर दे कौन रहा है. मैंने ये अवसर हासिल करने के लिए कोई प्रार्थना पत्र भी नहीं दिया है.'

उन्होंने एक सवाल पर कहा कि उन्हें यदि मोदी में कोई बुराई दिखाई देगी, तो वो उनकी आलोचना भी करेंगे. लेकिन इस तथ्य को कौन नकार सकता है कि प्रधानमंत्री की मां और उनके नज़दीकी ​रिश्तेदार आज भी आम नागरिकों की तरह जीवन-यापन करते हैं और सरकारी अस्पतालों में इलाज कराते हैं.

सिंह ने मोदी सरकार के विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा कि फिलहाल केवल विरोध के नाम पर विरोध की राजनीति की जा रही है.

उन्होंने कहा, 'जीएसटी की शुरुआत के लिए संसद में बुलाए गए विशेष सत्र से कांग्रेस महज़ इसलिए गायब रही, क्योंकि नई कर प्रणाली के बारे में मोदी घोषणा कर रहे थे. इन दिनों इस तरह की राजनीति का जो स्वरूप देखने को मिल रहा है वो बहुत क्रूर और निष्ठुर है.'

उन्होंने बागी जेडीयू नेता शरद यादव पर निशाना साधते हुए कहा, 'यादव पहले ये बताएं कि अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्री काल में जब वो राजग के संयोजक थे, तब उन्हें देश में सांप्रदायिकता क्यों नहीं नज़र आ रही थी. इन दिनों देश की सियासत में सांप्रदायिकता और धर्मनिरपेक्षता एक मज़ाक बनकर रह गई है.'
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर