कर्नाटक: ममता बनर्जी और केजरीवाल के बाद कुमारस्‍वामी लेंगे प्रशांत किशोर का सहारा

कोलकाता कार्गो फ्लाइट में जाने को लेकर अब प्रशांत किशोर पर जेडीयू लगातार हमला बोल रही है. (फाइल फोटो)

जेडीएस (JDS) ने कांग्रेस (Congress) के साथ गठबंधन करके राज्य में 14 महीने सरकार चलाई थी, जिसे पिछली जुलाई में बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने गिरा दिया था. यह पार्टी ने प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) से हाथ मिलाने का फैसला किया हैं.

  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी (HD Kumaraswamy) को लगता है कि बेहतरीन चुनावी रणनीतिकार (Poll Strategist) प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) उनकी पार्टी जेडीएस (JDS) को राज्य के अगले विधानसभा चुनावों (Assembly Election) में (जो 2023 में होने वाले हैं) बचा लेंगे.

कुमारास्वामी, जिन्हें लोग HDK के नाम से भी जानते हैं, पहले ही प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) के साथ दो दौर की बातचीत कर चुके हैं. और उनसे जेडीएस (JDS) की चुनावी रणनीति को संभालने की गुजारिश भी कर चुके हैं.

हम अपने बलबूते 2023 में सत्ता में आएंगे: कुमारास्वामी
इस बारे में हो रही बातों पर मुहर लगाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें विश्वास था कि किशोर अगले तीन सालों में इसके लिए काम करेंगे. उन्होंने कहा, "हम प्रशांत किशोर के साथ जुड़े हुए हैं. वे हमारी मदद करने के लिए राजी हो गए हैं. वे हमारे लिए चुनावी रणनीति (Poll Strategy) तैयार करेंगे. हम अपने बलबूते 2023 में सत्ता में आएंगे."

जेडीएस ने कांग्रेस के साथ गठबंधन करके राज्य में 14 महीने सरकार चलाई थी, जिसे पिछली जुलाई में बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने गिरा दिया था. यह पार्टी उन हाईटेक चुनावी रणनीतियों में नई है, जिसके लिए प्रशांत किशोर जाने जाते हैं.

पार्टी का आधुनिकीकरण किए जाने के दबाव के चलते प्रशांत किशोर के नाम पर राजी हुए HDK
कुमारास्वामी और उनके पिता, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा (HD Deve Gowda) पर बहुत आंतरिक दबाव था कि वे या तो पार्टी का आधुनिकीकरण करें या उसका नाश हो जाने दें. ऐसे में लगता है कि वे पार्टी की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए प्रशांत किशोर को काम पर रखने के लिए सहमत हुए दिखते हैं.

अभी तक इसकी कोई समयसीमा नहीं तय की गई है और HDK कैंप का दावा है कि किशोर जल्द ही स्थिति को समझने के लिए बेंगलुरु (Bengaluru) आएंगे.

इससे पहले देश की कई बड़ी पार्टियों और नेताओं के साथ काम कर चुके हैं किशोर
पार्टी को प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) के जमीन पर काम शुरू करने से पहले ही एक नया रूप मिलने की उम्मीद की जा रही है.

किशोर इससे पहले पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi), बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव, कांग्रेस, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी, शिवसेना और आप के नेता अरविंद केजरीवाल के लिए काम कर चुके हैं. वे फिलहाल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ जुड़े हुए हैं और उनके तमिलनाडु में डीएमके के साथ काम करने की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें: डिनर पार्टी में सोनिया को न बुलाए जाने पर कैप्टन अमरिंदर ने दिखाए सख्त तेवर

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.