स्वास्थ्य मंत्री ने फिर किया वैक्सीन की कमी से इनकार, कहा- प्लानिंग करना राज्यों का काम

महाराष्ट्र और दिल्ली समेत कई राज्यों से बीते दिनों वैक्सीन खत्म होने की खबरें आई थीं. (फाइल फोटो-ANI)

महाराष्ट्र और दिल्ली समेत कई राज्यों से बीते दिनों वैक्सीन खत्म होने की खबरें आई थीं. (फाइल फोटो-ANI)

Vaccine Shortage in India: महाराष्ट्र (Maharashtra) और दिल्ली समेत कई राज्यों से बीते दिनों वैक्सीन खत्म होने की खबरें आई थीं. महाराष्ट्र में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने केंद्र सरकार पर वैक्सीन आवंटन पर सवाल उठाया था. उन्होंने राज्य के लिए वैक्सीन स्टॉक बढ़ाने की बात कही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 12:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के कई राज्यों में वैक्सीन की कमी (Vaccine Shortage) को लेकर बहस जारी है. इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्ष वर्धन (Dr Harsh Vardhan) ने सरकार की जिम्मेदारियों पर सवाल उठाया है. उन्होंने साफ किया है कि वैक्सीन की कोई कमी नहीं है. साथ ही उन्होंने रेमडेसिविर की कमी पर चर्चा की. बीते मंगलवार को भी केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने भी दावा किया था कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी वैक्सीन मौजूद है. इस दौरान उन्होंने आंकड़े भी पेश किए थे.

बुधवार को डॉक्टर हर्ष वर्धन ने कहा 'वैक्सीन की कोई कमी नहीं है और भारत सरकार ने हर राज्य को वैक्सीन दी है. राज्यों का काम है कि वे टीकाकरण केंद्रों पर समयबद्ध तरीके से वैक्सीन की खुराक प्रदान करें.' रेमडेसिविर को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा 'रेमडेसिविर की कमी इसलिए हुई, क्योंकि इसका उत्पादन कम हो गया था क्योंकि कोविड-19 के मामले कम हो रहे थे.' उन्होंने जानकारी दी कि ड्रग कंट्रोलर और मंत्रालय ने स्टेकहोल्डर्स के साथ बैठक की है. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि निर्माताओं को उत्पादन मजबूत करने के लिए कहा गया है.

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्री ने पेश किए वैक्सीन स्टॉक के आंकड़े, कहा- राज्यों का विरोध महज दिखावा है

Youtube Video

महाराष्ट्र और दिल्ली समेत कई राज्यों से बीते दिनों वैक्सीन खत्म होने की खबरें आई थीं. महाराष्ट्र में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने केंद्र सरकार पर वैक्सीन आवंटन पर सवाल उठाया था. उन्होंने राज्य के लिए वैक्सीन स्टॉक बढ़ाने की बात कही थी. कुछ दिनों पहले भी डॉक्टर वर्धन ने कमी का दावा करने वाले राज्यों पर आरोप लगाए थे. केंद्रीय मंत्री ने कहा था 'कुछ राज्यों का केंद्र सरकार के पक्षपात को लेकर विरोध करना महज एक दिखावा है. यह अपनी अक्षमता छिपाने का प्रयास है. कोविड-19 वैक्सीन डोज के आवंटन के आधार पर महाराष्ट्र और राजस्थान शीर्ष 3 में से दो राज्य हैं. दोनों गैर-बीजेपी शासन वाले राज्य हैं.'



मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा था कि अब तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 13 करोड़ 10 लाख 90 हजार 370 वैक्सीन डोज मिल चुके हैं. इनमें से 11 करोड़ 43 लाख 69 हजार 677 डोज का इस्तेमाल हो चुका है. इस आंकड़े में वैक्सीन वेस्टेज भी शामिल है. उन्होंने जानकारी दी थी कि अप्रैल के अंत तक कुछ वैक्सीन डोज राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को और सप्लाई किए जाने हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज