कोरोना वैक्सीन में युवाओं को तरजीह की बात हर्षवर्धन ने नकारी, त्योहारों को लेकर किया सचेत

हर्षवर्धन की दी कोरोना वायरस वैक्‍सीन पर प्रतिक्रिया. (Pic- PTI)
हर्षवर्धन की दी कोरोना वायरस वैक्‍सीन पर प्रतिक्रिया. (Pic- PTI)

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामले 70 लाख के पार पहुंच गए हैं, जिनमें से संक्रमणमुक्त हुए लोगों की संख्या 60 लाख से अधिक है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 3:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस वैक्‍सीन (Coronavirus Vaccine) के वितरण को लेकर उड़ रही अफवाहों पर रविवार को स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने उड़ाई जा रही इस बात को पूरी तरह से नकार दिया कि सरकार की योजना बुजुर्गों के बजाय युवाओं को पहले कोरोना वायरस संक्रमण की वैक्‍सीन (Covid 19 vaccine) उपलब्‍ध कराने की है. उन्‍होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है. यह पूरी तरह से गलत है.

संडे संवाद कार्यक्रम में डॉ. हर्षवर्धन ने कई सवालों के जवाब दिए. इसमें उन्‍होंने आगामी त्‍योहारों और भगवान की पूजा को लेकर भी लोगों से कोरोना वायरस को देखते हुए अपील की. उन्‍होंने कहा, 'मेरा कर्तव्य है कि मैं अपने लोगों की रक्षा करूं. जीवन को बचाऊं और उन्हें खत्‍म न करूं. कोई भी धर्म या भगवान यह नहीं कहता है कि आपको आडंबरपूर्ण तरीके से जश्न मनाना है. अपने विश्वास को साबित करने के लिए बड़ी संख्या में एकत्रित होने की आवश्यकता नहीं है.'

डॉ. हर्षवर्धन यह भी कहा कि सरकार ने अभी तक कोविड-19 वैक्सीन के लिए आपातकालीन प्राधिकरण देने पर कोई विचार नहीं किया है. इससे पहले लोगों की सुरक्षा के लिए वैक्‍सीन के ट्रायल के दूसरे और तीसरे चरण के क्‍लीनिकल डाटा का इंतजार हो रहा है. जोखिम वाले समूह और संक्रमण के जोखिम वाले समूह को प्राथमिकता दी जाएगी. हर्षवर्धन ने कहा क‍ि इसकी आशंका भी हैं कि कोरोना वैक्‍सीन सीमित मात्रा में ही सप्‍लाई होंगी. भारत जैसे बड़े देश में प्राथमिकता के आधार पर ही टीकाकरण की तैयारी जरूरी है, न कि एक लाइन से सबको टीका लगा दिया जाए. हर्षवर्धन ने कहा क‍ि कई चीजें इसलिए सुनिश्चित की जा रही हैं ताकि जब उनकी जरूरत पड़े तो कोई दिक्‍कत न आए.



बता दें कि इससे पहले सात अक्‍टूबर को स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन ने कहा था कि भारत में कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों के ठीक होने की बढ़ती दर और इलाजरत मरीजों की संख्या में लगातार आ रही कमी साबित करती है कि केंद्र सरकार के नेतृत्व में कोविड-19 पर रोक लगाने की रणनीति सफल है.

वहीं भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 70 लाख के पार पहुंच गए हैं, जिनमें से संक्रमणमुक्त हुए लोगों की संख्या 60 लाख से अधिक है. संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर 86.17 प्रतिशत है. देश में संक्रमित लोगों की संख्या 13 दिन पहले 60 लाख के पार पहुंची थी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह आठ बजे तक के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 74,383 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 70,53,806 हो गए हैं. इसी अवधि में 918 और लोगों की मौत हो जाने के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,08,334 हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज