Covid-19 Bulletin : 33 लाख से ज्‍यादा कोरोना मरीज ठीक हुए, डेथ रेट 1.70% हुई

Covid-19 Bulletin : 33 लाख से ज्‍यादा कोरोना मरीज ठीक हुए, डेथ रेट 1.70% हुई
देश में 33 लाख से ज्यादा मरीज हुए ठीक, पांच राज्यों में 62 फीसदी मामले

Covid-19 Bulletin: देश में कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Epidemic) के केस तो लगातार बढ़ रहे हैं. लेकिन डेथ रेट (death rate) में लगातार गिरावट आ रही है. अगस्‍त के पहले हफ्ते में यह 2.15% थी, अब यह 1.70 फीसदी हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2020, 5:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Epidemic) को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Ministry of Health) और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि कोविड-19 (COVID-19) के मामले की मृत्‍यु दर में लगातार गिरावट आ रही है. अगस्‍त के पहले हफ्ते में यह 2.15% थी, अब यह 1.70 फीसदी हो गई है. देश में कोरोना के मरीजों के ठीक होने की दर लगातार बढ़ रही है. इसलिए सक्रिय मामलों और रिकवरी रेट के बीच का अंतर भी लगातार बढ़ रहा है. देश में इस समय 3323000 कोरोना मरीज ठीक हो चुके हैं. जबकि 883000 सक्रिय मामले हैं. राजेश भूषण ने कहा कि देश में प्रति 10 लाख की आबादी पर 53 मौतें दर्ज की गई हैं. जिन देशों से भारत की तुलना की जा रही है वहां प्रति 10 लाख की जनसंख्‍या पर 500 से 600 मौतें दर्ज की जा रही हैं.

राजेश भूषण ने कहा कि भारत में कोविड-19 के कुल इलाजरत मरीजों में से 62 प्रतिशत मरीज महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में हैं. भारत में कोविड-19 से हुई मौत में से 70 प्रतिशत मौत महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु में हुई. कोविड-19 से होने वाली मृत्यु की दर 28 राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय औसत 1.70 प्रतिशत से कम है. अगर लोगों में कोविड-19 के लक्षण नजर आ रहे हों तो उन्हें जांच करानी चाहिए. लक्षद्वीप में कोविड-19 का एक भी उपचाररत मरीज नहीं, 14 राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों में 5,000 से कम इलाजरत मरीज हैं.

उन्होंने कहा कि देशभर के कुल सक्रिय मामलों में से महाराष्ट्र में 27%, आंध्र प्रदेश में 11%, कर्नाटक में 10.98%, उत्तर प्रदेश में लगभग सात फीसदी और तमिलनाडु में लगभग छह फीसदी मामले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज