स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- लगातार कम हो रहे कोरोना के नए मामले, एक्टिव केस में भी कमी

देश में करीब 87 प्रतिशत लोग अब तक ठीक हुए हैं.
देश में करीब 87 प्रतिशत लोग अब तक ठीक हुए हैं.

Coronavirus In India: स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि 9 से 15 सितंबर तक देखें तो देश में हर दिन 92 हज़ार नए मामले सामने आ रहे थे. 7 अक्टूबर से 13 अक्टूबर के बीच प्रतिदिन 70,114 नए मामले सामने आए हैं. ये औसत लगातार बना हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 5:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने राहत भरी खबर दी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में लगातार नए मामलों में गिरावट हो रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण (Rajesh Bhushan, Secretary, Union Health Ministry) ने कहा कि देश में सितंबर में मामले 92 हजार से अधिक आ रहे थे जो कि घटकर प्रतिदिन 90 हजार के करीब हो गए, अब देश में प्रतिदिन करीब 70 हजार के करीब केस आ रहे हैं. स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि 9 से 15 सितंबर तक देखें तो देश में हर दिन 92 हज़ार नए मामले सामने आ रहे थे. 7 अक्टूबर से 13 अक्टूबर के बीच प्रतिदिन 70,114 नए मामले सामने आए हैं. उन्होंने कहा कि ये औसत लगातार बना हुआ है. उन्होंने बताया कि हफ्ते के हिसाब से नए मामले कम हो रहे हैं.

भूषण ने कहा कि नए मामले कम होने का कारण कम टेस्ट को बताया जाता है लेकिन ऐसा नहीं है देश में लगातार टेस्ट बढ़ रहे हैं और नए मामले कम हो रहे हैं. स्वास्थ्य सचिव ने जानकारी दी कि रोजाना के हिसाब से औसतन 11 लाख 36 हजार टेस्ट हो रहे हैं. स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि देश में कोविड-19 (Covid-19) से ठीक हो चुके लोगों की संख्या 62 लाख पार कर चुकी है जो कि पूरी दुनिया में सबसे अधिक है. भूषण ने कहा कि लगातार पांचवें दिन 9 लाख से कम केस हैं. उन्होंने कहा कि देश में पॉजिटिविटी रेट लगातार घट रहा है, रोज का इसका प्रतिशत 8.07 है जबकि इसकी साप्ताहिक दर 6.24 प्रतिशत है वहीं इसकी दैनिक 5.16 फीसदी है.

देश में 1.53 प्रतिशत लोगों की हुई मौत
राजेश भूषण ने बताया कि देश में करीब 87 प्रतिशत लोग अब तक ठीक हुए हैं. जबकि 11.69 प्रतिशत एक्टिव मामले हैं जो कि या तो अस्पताल में हैं या फिर होम आइसोलेशन में हैं. वहीं अब तक 1.53 प्रतिशत लोगों की मौत हुई है.
राजेश भूषण ने राज्यों से जुड़े कुछ आंकड़ों पर बात करते हुए कहा कि 14 राज्य और केंद्रशासित प्रदेश प्रति 10 लाख जनसंख्या में राष्ट्रीय औसत से भी ज्यादा टेस्ट कर रहे हैं. राजेश भूषण ने कहा कि देश में 11.69 प्रतिशत एक्टिव मामलों के 11 प्रतिशत केस केरल में हैं, 25 प्रतिशत महाराष्ट्र में हैं और 13 प्रतिशत मामले कर्नाटक में हैं. इन राज्यों के साथ बातचीत कर स्थिति में सुधार लाने की कोशिश की जा रही है.



उन्होंने बताया कि 35 प्रतिशत मृत्यु 45 से 60 साल के बीच के लोगों की हो रही है.

डॉ. वीके पॉल ने लोगों से मास्क लगाने और सुरक्षा उपायों को अपनाने की अपील करते हुए कहा कि अगर हम सभी तय नियम, जैसे-मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करने, हाथ धोने की आदत को बनाए रखेंगे तो भारत संक्रमण की दूसरी लहर से बच सकेगा और हम दुनिया के सामने मिसाल पेश कर सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज