भारत की तुलना में दूसरे देशों में कोरोना से हो रही 35 गुना अधिक मौतें: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय

भारत में कोरोना के बढ़ रहे मामले.
भारत में कोरोना के बढ़ रहे मामले.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) में विशेष कार्य अधिकारी राजेश भूषण ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए मामलों की दैनिक वृद्धि दर में महत्वपूर्ण गिरावट आई है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के नए मामले अब बड़ी संख्‍या में सामने आ रहे हैं. इस बीच स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) ने मंगलवार को कहा कि भारत की तुलना में कोरोना प्रभावित अन्‍य देशों में कोविड 19 (Covid-19 in India) से मौतें 35 गुना अधिक हो रही हैं. बता दें कि अब तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण से 24,309 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि दुनिया में अब तक 5,81,221 लोगों की जान कोरोना वायरस से जा चुकी है.

वहीं विश्व की दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाला देश होने के बावजूद भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की दैनिक वृद्धि दर में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. यह मार्च में करीब 31 फीसदी थी जोकि 12 जुलाई को गिरकर 3.24 फीसदी रह गई. मंत्रालय में विशेष कार्य अधिकारी राजेश भूषण ने मंगलवार को कहा कि नए मामलों की दैनिक वृद्धि दर में महत्वपूर्ण गिरावट आई है.

उन्होंने कहा, 'अगर आप देखें, कोरोना वायरस संक्रमण की दैनिक वृद्धि दर मार्च में करीब 31.28 फीसदी थी, मई में इसमें करीब नौ फीसदी की गिरावट हुई और मई के अंत तक यह और 4.82 फीसदी कम हुई. अगर आप 12 जुलाई के आंकड़े को देखते हैं तो यह 3.24 फीसदी तक नीचे आ गई है.'







क्या देश में पर्याप्त जांच हो रही है, इस पर राजेश भूषण ने कहा कि डब्ल्यूएचओ के परामर्श नोट के अनुसार व्यापक जांच निगरानी और संदिग्ध मामलों की जांच की जरूरत पर जोर दिया गया है. भूषण ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'उसी दस्तावेज में व्यापक (कॉम्प्रिहेंसिव) को इस तरह परिभाषित किया गया है कि अगर आप हर दिन प्रति 10 लाख लोगों पर 140 लोगों की जांच करते हैं तो यह व्यापक जांच है.

उन्होंने कहा, '22 राज्य डब्ल्यूएचओ के निर्देश के अनुरूप रोजाना प्रति दस लाख आबादी पर 140 से ज्यादा जांच कर रहे हैं.' उनके अनुसार भारत रोजाना प्रति दस लाख आबादी पर करीब 201 जांच कर रहा है. उन्होंने कहा कि रोजाना प्रति दस लाख आबादी पर 1058 जांच के साथ गोवा सूची में शीर्ष पर है. जबकि, रोजाना प्रति दस लाख आबादी पर दिल्ली में 978, तमिलनाडु में 563, असम में 310, कर्नाटक में 297, मध्यप्रदेश में 249, झारखंड में 242, राजस्थान में 235, महाराष्ट्र में 198 जांच हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज