Assembly Banner 2021

कर्नाटक: मंत्री को घर पर कोरोना टीका देने का मामला, स्वास्थ्य अधिकारी को थमाया गया नोटिस

कर्नाटक के मंत्री बीसी पाटिल अपने घर पर कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेते हुए. (ANI/2 March 2021)

कर्नाटक के मंत्री बीसी पाटिल अपने घर पर कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेते हुए. (ANI/2 March 2021)

Coronavirus Vaccination: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर समेत विभिन्न वर्गों द्वारा आलोचना किये जाने के बावजूद पाटिल ने कहा कि घर पर टीका लगवाने में कुछ भी गलत नहीं था.

  • Share this:

बेंगलुरु. कर्नाटक में कोविड-19 टीकाकरण अभियान के नियमों का उल्लंघन कर राज्य के कृषि मंत्री बी सी पाटिल और उनकी पत्नी को घर पर ही टीका लगाने को लेकर संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक (कर्नाटक) अरुंधति चंद्रशेखर ने हावेरी के प्रजनन एवं बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अधिकारी डॉ. जयांनद एम को कारण बताओ नोटिस भेजकर पूछा है कि नियमों का उल्लंघन क्यों किया गया.


निदेशक ने कहा कि भारत सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार टीकाकरण निर्धारित अस्पतालों में ही किया जाना चाहिए और बैठकों में बार-बार यह कहा गया है. उन्होंने कहा कि उसके बाद भी नियम का उल्लंघन किया गया और स्वास्थ्य विभाग की बदनामी की गई. उन्होंने कहा कि यदि प्रजनन एवं बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अधिकारी दोषी पाये जाते हैं, तो उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी.


Youtube Video

इस बीच स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा है कि किसी को भी घर पर टीका नहीं लगवाना चाहिए क्योंकि निगरानी करना या प्रतिकूल प्रभाव की स्थिति में उपचार करना मुश्किल हो जाएगा. केंद्र ने भी इस विषय पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है.


स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर समेत विभिन्न वर्गों द्वारा आलोचना किये जाने के बावजूद पाटिल ने कहा कि घर पर टीका लगवाने में कुछ भी गलत नहीं था. पाटिल (64) और उनकी पत्नी ने टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण के दूसरे दिन मंगलवार (2 मार्च) को टीका लगवाया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज