अपना शहर चुनें

States

तेलंगाना में टीका लेने के बाद स्वास्थ्यकर्मी की मौत, मृत्यु का कारण टीका नहीं-अधिकारी

तेलंगाना में स्वास्थ्यकर्मी की मौत (सांकेतिक तस्वीर)
तेलंगाना में स्वास्थ्यकर्मी की मौत (सांकेतिक तस्वीर)

Covid-19 Vaccination: केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की बुधवार को जारी एक अंतरिम रिपोर्ट के अनुसार 16 जनवरी से देश में शुरू हुए कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत आज शाम छह बजे तक कुल 7.86 लाख स्वस्थ्य कर्मियों का टीकाकरण हुआ है.

  • Last Updated: January 21, 2021, 12:22 AM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) के निर्मल (Nirmal) जिले में कोविड-19 का टीका (Covid-19 Vaccine) लेने वाले एक स्वास्थ्यकर्मी की बुधवार तड़के मौत हो गयी. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्यकर्मी की मौत टीके के कारण नहीं हुई. स्वास्थ्यकर्मी ने जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) में मंगलवार को दिन में साढ़े ग्यारह बजे टीके की खुराक ली थी और उन्हें बुधवार को तड़के ढाई बजे सीने में दर्द हुआ. राज्य के लोक स्वास्थ्य निदेशक जी श्रीनिवास राव ने एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि स्वास्थ्यकर्मी को करीब साढ़े पांच बजे सुबह अस्पताल लाया गया.

विज्ञप्ति में कहा गया, ‘‘आरंभिक तथ्यों से पता चला है कि टीकाकरण के कारण उनकी मौत नहीं हुई.’’ तय दिशा-निर्देशों के तहत डॉक्टरों की एक टीम शव का पोस्टमार्टम करेगी. टीकाकरण के बाद प्रतिकूल प्रभाव पर गौर करने के लिए बनायी गयी जिला समिति मामले की जांच कर रही है और वह राज्य एईएफआई समिति को रिपोर्ट सौंपेगी. इसके बाद राज्य एईएफआई समिति केंद्रीय एईएफआई समिति को यह रिपोर्ट देगी. राज्य में 16 जनवरी को टीकाकरण शुरू हुआ था.

ये भी पढ़ें- Chrome का नया अपडेट रोकेगा हैकिंग, कमजोर पासवर्ड बनाने पर जारी करेगा अलर्ट




अब तक 7.86 लाख लोगों को लगी वैक्सीन
बता दें केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की बुधवार को जारी एक अंतरिम रिपोर्ट के अनुसार 16 जनवरी से देश में शुरू हुए कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत आज शाम छह बजे तक कुल 7.86 लाख स्वस्थ्य कर्मियों का टीकाकरण हुआ है. रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को देश के 20 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में शाम छह बजे तक 1,12,007 लोगों को टीका लगाया गया है. मंत्रालय का कहना है कि अंतिम रिपोर्ट देर रात तक पूरी होगी.

मंत्रालय ने कहा, ‘‘अंतरिम रिपोर्ट के अनुसार (बुधवार शाम छह बजे तक) 14,119 सत्रों में 7,86,842 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया है.’’

बुधवार को शाम छह बजे तक कुल 2353 सत्र आयोजित किये गये.

ये भी पढ़ें- करीब 8 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स हुआ वैक्सिनेशन, 'अभी तक गंभीर दुष्प्रभाव नहीं'

मंत्रालय ने कहा कि टीकाकरण अभियान के पांचवें दिन शाम छह बजे तक टीकाकरण के बाद प्रतिकूल प्रभावों (एईएफआई) के 82 मामले सामने आये हैं. टीकाकरण के बाद प्रतिकूल प्रभाव के 10 मामलों में रोगी को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा, जिनमें दिल्ली में चार, कर्नाटक में दो जबकि उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पश्चिम बंगाल से एक-एक मामले आए हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय में अवर सचिव मनोहर अगनानी ने कहा, ‘‘कोविड-19 टीकाकरण का अभी तक कोई गंभीर प्रतिकूल प्रभाव नहीं दिखा है.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज