Home /News /nation /

धर्म संसद में हेट स्‍पीच के मामले पर कल सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

धर्म संसद में हेट स्‍पीच के मामले पर कल सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट.  (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट. (फाइल फोटो)

पिछले महीने हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद (Haridwar Dharm Sansad) में हेट स्‍पीच के मामले पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई होगी. यह सुनवाई CJI एन वी रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हिमा कोहली की बेंच करेगी.

नई दिल्‍ली.  पिछले महीने हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद (Haridwar Dharm Sansad) में हेट स्‍पीच के मामले पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई होगी. यह सुनवाई CJI एन वी रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हिमा कोहली की बेंच करेगी. इस मामले से देशभर में काफी हंगामा हुआ था और इस मामले में हरिद्वार पुलिस ने वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्‍यागी और अन्‍य पर मुकदमा दर्ज किया था. याचिका में SIT से स्वतंत्र, विश्वसनीय और निष्पक्ष जांच की मांग की थी.

हरिद्वार के खड़खड़ी स्थित वेद निकेतन में दिसंबर में धर्म संसद का आयोजन हुआ था इसमें कुछ वक्‍ताओं ने हेट स्‍पीच दी थी. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था और इस पर काफी विवाद भी मचा था. धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के आरोपी वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी (Wasim Rizvi aka Jitendra Tyagi) ने हरिद्वार पहुंचकर शांभवी धाम आश्रम में साधु-संतों से मुलाकात की और फिर इस ‘धर्म संसद’ में भाग लेने वाले यति नरसिंहानंद सहित अन्य कुछ लोगों के साथ हरिद्वार के पुलिस थाने पहुंचें, जहां उन्होंने मुस्लिम मौलवियों पर हिन्दुओं के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करने और उन्हें दंडित करने की मांग करते हुए तहरीर दी थी.

ये भी पढ़ें : Covid-19: द‍िल्‍ली में कोरोना का कहर, टूटा मौतों का र‍िकॉर्ड, 24 घंटे में 23 मरीजों की मौत, 21,259 आए नए केस

ये भी पढ़ें :  किसान आंदोलन : सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली की सीमाएं खुलवाने के लिए लगाई गई याचिका खारिज की, जज बोले- अब इसका कोई मतलब नहीं

हरिद्वार कोतवाली थाने के एसएचओ रकिंदर सिंह ने बताया कि ज्वालापुर के एक निवासी की शिकायत पर जितेंद्र नारायण त्यागी एवं अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. त्यागी का नाम पहले वसीम रिजवी था. उन्होंने कहा कि वह इस महीने की शुरुआत में धर्म परिवर्तन करने के बाद हिंदू बने थे. एसएचओ ने कहा, ‘शिकायतकर्ता से हमें कार्यक्रम का कुछ फुटेज भी मिला है, जिसकी जांच चल रही है.’ यह पूछने पर कि क्या गिरफ्तारियां होंगी तो उन्होंने कहा कि जांच पूरी होने के बाद ही ऐसा हो सकता है.

बता दें कि ‘धर्म संसद’ का आयोजन जूना अखाड़ा के यति नरसिंहानंद गिरि ने की थी, जिन पर विगत में भी अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत भरे भाषण देने और हिंसा भड़काने के आरोप हैं. इस कार्यक्रम में कई वक्ताओं ने कथित तौर पर भड़काऊ और उत्तेजक भाषण दिए थे और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की हत्या करने का आह्वान किया. साथ ही उन्होंने लोगों से हथियार उठाने और एक पूर्व प्रधानमंत्री को गोली मारने की भी अपील की.

Tags: Haridwar, Supreme Court

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर