Weather Alert: आज कई राज्‍यों में भारी बारिश की चेतावनी, पूर्वोत्‍तर में बाढ़ से हालात खराब

मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी.
मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी.

निजी मौसम पूर्वानुमान संस्था स्काईमेट ने कहा कि असम, मेघालय, हिमाचल प्रदेश और तटीय कर्नाटक में अगले 24 घंटों में मध्यम बारिश (Rain) हो सकती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल के उत्‍तरी हिस्‍से में शनिवार को भारी बारिश (Heavy rain) हुई, जिससे निचले इलाकों में बाढ़ आ गई, जबकि हिमाचल प्रदेश में मौसम विभाग ने 12 जुलाई को भारी बारिश की चेतावनी जारी की. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार में रविवार को भारी से बहुत भारी वर्षा होने की आशंका है और पश्चिम बंगाल में आंधी भी आ सकती है.

निजी मौसम पूर्वानुमान संस्था स्काईमेट ने कहा कि असम, मेघालय, हिमाचल प्रदेश और तटीय कर्नाटक में अगले 24 घंटों में मध्यम बारिश हो सकती है. पूरे उत्तरी और पूर्वी भारत में भारी वर्षा के कारण कई दुर्घटनाएँ और भूस्खलन हुए हैं. उत्तर प्रदेश में शनिवार को सुल्तानपुर जिले में दीवार गिरने की अलग-अलग घटनाओं में दो महिलाओं की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए.

अरुणाचल प्रदेश में पिछले पांच दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण भूस्खलन की कई घटनाएं हुई और राज्य के कई हिस्सों में बाढ़ की समस्या खड़ी हो गई. भारी बारिश के चलते कई सड़कों और घरों को नुकसान पहुँचा और निचले इलाकों में बाढ़ आ गई. राज्य में मानसून से संबंधित घटनाओं के कारण मरने वालों की संख्या 15 हो गई है.



इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शनिवार को आसमान में बादल छाए रहे जिससे पारा तो थमा रहा लेकिन उमस से नगरवासियों को थोड़ी परेशानी हुई. सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक 36.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया. बाकी इलाकों में अधिकतम तापमान 35 से 39 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया. रात में हुई वर्षा के कारण आर्द्रता का स्तर 98 प्रतिशत तक बढ़ गया.
मौसम विभाग ने रविवार को सामान्य तौर पर बादल छाए रहने, हल्की बारिश और तेज हवाएं चलने की भविष्यवाणी की है. सफदरजंग मौसम केंद्र ने जुलाई में अब तक 43.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की है, जो सामान्य से 23 प्रतिशत कम है. पश्चिम बंगाल में, जलपाईगुड़ी के निचले इलाकों और हिमालय की तलहटी में बसे अन्य स्थानों पर भारी वर्षा के बाद बाढ़ आ गई. अधिकारियों ने लोगों को ऊंचे स्थानों पर ले जाना शुरू कर दिया है. जलपाईगुड़ी में शनिवार सुबह 8.30 बजे तक 24 घंटे में 93 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि सिलीगुड़ी में 61.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई.

अगले दो दिनों में इस क्षेत्र में और अधिक बारिश की आशंका है. कोलकाता में भी भारी बारिश हुई, जिससे शहर के कुछ हिस्सों में ट्रैफिक जाम हो गया. मौसम विज्ञान केंद्र ने शनिवार को हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में 12 जुलाई को भारी बारिश की चेतावनी जारी की. शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि रविवार के लिए मध्यम पहाड़ी क्षेत्रों में भारी बारिश के लिए मौसम की ‘येलो’ चेतावनी जारी की गई है. 17 जुलाई तक राज्य के मैदानी और निचले, मध्यम और ऊंचे पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश की संभावना है.



मौसम विभाग लोगों को सावधान करने के लिए विभिन्न रंगों के माध्यम से मौसम की गंभीरता को व्यक्त करता है. जिसमें ‘येलो’ सभी मौसम की चेतावनियों में कम से कम खतरे को इंगित करता है. मनाली समेत राज्य के कुछ हिस्सों में शनिवार को हल्की बारिश हुई. हरियाणा और पंजाब में अधिकतम तापमान सामान्य के करीब रहा, जबकि अगले दो दिनों में बारिश की संभावना जतायी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज