Weather Report: हिमाचल, उत्तराखंड में भारी बारिश-बर्फबारी के आसार, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में पड़ेंगे ओले!

कश्मीर में बर्फबारी का फाइल फोटाेे)

कश्मीर में बर्फबारी का फाइल फोटाेे)

Weather Report: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में 3 और 4 फरवरी को और उत्तराखंड (Uttarakhand) में 4 और 5 फरवरी को मौसम के बदलते स्वरूप को झेलना पड़ेगा. हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 4 फरवरी को भारी बारिश और हिमपात की संभावना जताई गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 10:02 AM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. हिमालय रिजन और कुछ मैदानी इलाकों में मौसम (Weather) एक बार फिर करवट बदलने लगा है. वेस्टर्न डिस्टरबेंस (Weather Disturbance) के चलते पश्चिमी हिमालय क्षेत्र और उत्तर पश्चिमी भारत के मैदानी इलाकों में मौसम में बदलाव की शुरू हो गया है.

मौसम विभाग के मुताबिक, वेस्टर्न डिस्टरबेंस के चलते अफगानिस्तान के ऊपर समुद्र लेवल पर समुंद्री चक्रवात 3.1 किलोमीटर और 3.6 किलोमीटर की रफ्तार ‌से गुजरेगा. आसपास समुद्र का स्तर लगभग लंबे समय तक 5.8 किमी से ऊपर की धुरी के साथ होता है.

मौसम विभाग का अनुमान है कि 3 फरवरी से इसका प्रभाव जम्मू और कश्मीर (Jammu & Kashmir), लद्दाख (Ladakh), गिलगित (Gilgit), बालटिस्तान (Baltistan), और मुजफ्फराबाद (Muzaffarabad) आदि में ज्यादा देखने को मिलेगा. यहां पर अलग-अलग जगहों पर बादल गरजने, बिजली चमकने के साथ हल्की से मध्यम बारिश / बर्फ और ओले पड़ने की प्रबल संभावना जताई गई है.

वहीं, हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में 3 और 4 फरवरी को और उत्तराखंड (Uttarakhand) में 4 और 5 फरवरी को मौसम के बदलते स्वरूप को झेलना पड़ेगा. हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 4 फरवरी को भारी बारिश और हिमपात की संभावना जताई गई है.
पश्चिमी विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी से दक्षिण-पूर्वी इलाकों के निचले स्तर संपर्क की वजह से पंजाब (Punjab) हरियाणा (Haryana), चंडीगढ़ (Chandigarh), और दिल्ली (Delhi), उत्तरी राजस्थान (Rajasthan), उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश और पश्चिम उत्तर प्रदेश में 4 फरवरी को गरज के साथ हल्की और मध्यम बारिश होने की संभावना है.

वहीं, 5 फरवरी को पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) और उत्तरी छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी हल्की व मध्यम बारिश होने के आसार हैं. पश्चिम बंगाल में 6 और 7 फरवरी को बारिश होने की संभावना जताई है. मौसम विभाग का कहना है कि देश के अधिकांश हिस्सों से कोल्ड वेव यानी शीत लहर का प्रकोप समाप्त हो गया है. वहीं, रेन बेल्ट पश्चिम से पूर्व की ओर मुड़ गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज