लाइव टीवी

उत्तर भारत में भारी बारिश के चलते 48 की मौत, UP में अलर्ट

भाषा
Updated: September 29, 2019, 7:18 AM IST
उत्तर भारत में भारी बारिश के चलते 48 की मौत, UP में अलर्ट
देश के कई हिस्सों में बारिश ने एकबार फिर से कहर बरपाया है. बारिश से संबंधित घटनाओं में अब तक करीब 48 लोगों की मौत हो चुकी है.

सबसे ज्यादा लोग उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में मारे गए जबकि बिहार में लगातार बारिश से राज्य की राजधानी पटना की सड़कों और अन्य क्षेत्रों में जलभराव हो गया और कम से कम दो मंत्रियों के घर पानी में घिर गए.

  • भाषा
  • Last Updated: September 29, 2019, 7:18 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के कई हिस्सों में बारिश (Rain fall) ने एकबार फिर से कहर बरपाया है. बारिश से संबंधित घटनाओं में अब तक करीब 48 लोगों की मौत हो चुकी है. सबसे ज्यादा लोग उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में मारे गए, जबकि बिहार(Bihar) में लगातार बारिश से राज्य की राजधानी पटना की सड़कों और अन्य क्षेत्रों में जलभराव हो गया और कम से कम दो मंत्रियों के घर पानी में घिर गए.

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार से अब तक 35 लोगों की जान जा चुकी है. राज्य सरकार ने कहा कि 25 लोगों की मौत शनिवार को हुई, वहीं 10 लोगों की शुक्रवार को जान चली गई थी. मौसम विभाग ने रविवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान जताया है.

मौसम विभाग ने रविवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान जताया है.


बारिश के कारण घर गिरने से लोगों की मौत

सरकार की तरफ से जारी बयान के अनुसार बारिश के कारण घर गिरने, पेड़ गिरने तथा सांप के काटने के चलते लोगों की मौत हुई. कच्चे मकानों के गिरने के अलावा दीवार गिरने के कारण भी लोगों की मौत हुई है. बयान में कहा गया है कि वर्षाजनित इन हादसों में पांच लोग घायल भी हुए हैं.

वहीं उत्तराखंड में अधिकारियों ने बताया कि हिमालयी तीर्थस्थल हेमकुंड साहिब जा रहे पंजाब के छह तीर्थयात्रियों की मौत हो गई, जब टिहरी जिले में एक बड़ी चट्टान उनके वाहन पर गिर गई. भारी बारिश के चलते हुए भूस्खलन की वजह से यह चट्टान गिरी.

हिमालयी तीर्थस्थल हेमकुंड साहिब जा रहे पंजाब के छह तीर्थयात्रियों की मौत हो गई

Loading...

पुणे में बाढ़ में मरने वालों की संख्या बढ़कर गई 22
पुणे में बृहस्पतिवार को आयी बाढ़ में मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गई है. वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी भी 5 लोग लापता हैं.  बता दें कि पुणे और आसपास के क्षेत्रों में बुधवार और गुरुवार के बीच 100 मिलीमीटर से अधिक बारिश दर्ज की गई जिससे कई निचले इलाकों में बाढ़ आ गई. इसके परिणामस्वरूप अधिकारियों ने तीन हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में पहुंचाया.

अधिकारियों ने बताया कि 16 लोगों की मौत पुणे शहर में हुई, जबकि छह लोग जिले के ग्रामीण इलाकों में बाढ़ से संबंधित दुर्घटनाओं में मारे गए. उन्होंने बताया कि जिले में पांच लोग लापता हैं. जिला कलेक्टर नवल किशोर राम ने कहा कि तांगेवाला कॉलोनी में बाढ़ प्रभावितों को राहत कोष से चेक सौंपे गए.

ये भी पढ़ें: 

दिल्ली-NCR में स्वाइन फ्लू की दस्तक, नोएडा में एक महिला की मौत

उन्नाव रेप कांड: पीड़िता को घर देने का कोर्ट ने DCW को दिया आदेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 3:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...