ASI द्वारा विधवा से रेप और बेटे को फंसाने के मामले में हाईकोर्ट ने गठित की नई SIT

 रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी ने विधवा महिला को ब्लैकमेल करने के लिए पहले उसके 20 साल के बेटे को नशा तस्करी के केस में हवालात में डाल दिया था. (सांकेतिक तस्वीर)

रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी ने विधवा महिला को ब्लैकमेल करने के लिए पहले उसके 20 साल के बेटे को नशा तस्करी के केस में हवालात में डाल दिया था. (सांकेतिक तस्वीर)

Punjab News: सीआईए स्टाफ के एएसआई (ASI) को गांव बाठ के लोगों ने एक विधवा महिला के साथ दुष्कर्म (Rape) करते हुए ट्रैप लगाकर रंगे हाथों पकड़ लिया था. लोगों ने इस घटना की वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया था

  • Share this:

चंडीगढ़. युवक के खिलाफ झूठा केस दर्ज करके छोड़ने की एवज में उसकी विधवा मां से दुष्कर्म के मामले में पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट (Punjab Haryana High Court) ने एसएसपी बठिंडा द्वारा गठित एसआईटी (SIT) को रद्द कर दिया है. हाईकोर्ट ने नई एसआईटी  का गठन किया है जिसमें तीन महिला पुलिस अधिकारी तैनात किए हैं. इनमें एडीजीपी (ADGP) गुरप्रीत दियो, एसएसपी (SSP) मुक्तसर डी. सुडरविजी और डीएसपी (DSP) बुढलाडा प्रभजोत कौर शामिल हैं.

एडवोकेट गुरप्रीत सिंह भसीन ने पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए याचिका दायर की थी. जिसके बाद हाईकोर्ट ने सीजेएम बठिंडा (CJM Bathinda) को सभी ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग और मोबाइल फोन (Audio-video recordings and mobile phones) और अन्य सबूतों को भी सील करने व जांच के लिए लैब में भिजवाने के आदेश जारी किए हैं.

ये भी पढ़ें- UP: 24 घंटे में 3371 नए कोरोना केस, 95.1 फीसदी हुआ रिकवरी रेट

क्या है पूरा मामला
गौरतलब है कि सीआईए स्टाफ  के एएसआई (ASI) को गांव बाठ के लोगों ने एक विधवा महिला के साथ दुष्कर्म (Rape) करते हुए ट्रैप लगाकर रंगे हाथों पकड़ लिया था. लोगों ने इस घटना की वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया था.

एक रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी ने विधवा महिला को ब्लैकमेल करने के लिए पहले उसके 20 साल के बेटे को नशा तस्करी के केस में हवालात में डाल दिया था. इसके बाद उसने महिला के बेटे को छोड़ने के लिए 2 लाख रुपए की मांग की. महिला ने आरोपी को एक लाख रुपए लेकिन उसने इसके बावजूद महिला पर शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डाला. इस बीच उसने महिला का रेप भी किया.




महिला इस घटना की जानकारी अपनी पंचायत के लोगों को दी. गांव के लोगों ने महिला के घर के आसपास सीसीटीवी कैमरे लगा कर ट्रैप लगाया और आरोपी को रेगे हाथ पकड़ लिया था.इस मामले में सू-मोटो नोटिस लेते हुए पंजाब राज्य महिला आयोग ने सीनियर पुलिस अधिकारी बठिंडा से स्टेटस रिपोर्ट तलब की थी. महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी ने बताया था कि यह मामला मीडिया के द्वारा उनके ध्यान में आया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज