Home /News /nation /

हिंद महासागर की घटनाओं को लेकर अमेरिका और इंडिया के अधिकारियों ने की द्विपक्षीय वार्ता

हिंद महासागर की घटनाओं को लेकर अमेरिका और इंडिया के अधिकारियों ने की द्विपक्षीय वार्ता

विदेश मंत्रालय ने कहा कि दोनों पक्षों ने दक्षिण एशिया, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और पश्चिमी हिंद महासागर में हाल के घटनाक्रमों के बारे में चर्चा की.

विदेश मंत्रालय ने कहा कि दोनों पक्षों ने दक्षिण एशिया, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और पश्चिमी हिंद महासागर में हाल के घटनाक्रमों के बारे में चर्चा की.

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 'दोनों पक्षों ने रक्षा, वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य, आर्थिक और वाणिज्यिक सहयोग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, स्वच्छ ऊर्जा और जलवायु वित्त, और लोगों के बीच के संबंधों सहित भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी के तहत द्विपक्षीय एजेंडे में हुई प्रगति और विकास का जायजा लिया.'

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: भारत और अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों ने 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता के अगले संस्करण की तैयारियों की समीक्षा के अलावा रक्षा, जन स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था के क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग में प्रगति का जायजा लिया. अधिकारियों ने बुधवार को वाशिंगटन डीसी में 2+2 अंतर-सत्रीय बैठक की रूपरेखा के तहत विचार-विमर्श किया.

    विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कहा कि दोनों पक्षों ने दक्षिण एशिया, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और पश्चिमी हिंद महासागर में हाल के घटनाक्रमों के बारे में चर्चा की. मंत्रालय ने कहा कि बैठक में अक्टूबर 2020 में पिछली 2 + 2 मंत्रिस्तरीय वार्ता के बाद से हुई प्रगति और इस साल के अंत में होने वाली इसकी बैठक की तैयारियों की समीक्षा की. विदेश और रक्षा मंत्री स्तरीय 2+2 संवाद के तीसरे संस्करण का आयोजन पिछले साल भारत में हुआ था और चौथा संस्करण वाशिंगटन में आयोजित किया जाना है.

    विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘दोनों पक्षों ने रक्षा, वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य, आर्थिक और वाणिज्यिक सहयोग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, स्वच्छ ऊर्जा और जलवायु वित्त, और लोगों के बीच के संबंधों सहित भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी के तहत द्विपक्षीय एजेंडे में हुई प्रगति और विकास का जायजा लिया.’

    बयान में कहा गया, ‘उन्होंने आपसी हितों के आधार पर इन क्षेत्रों में जारी सहयोग को बढ़ाने के अवसरों का पता लगाया. अंतरिक्ष, साइबर सुरक्षा और उभरती प्रौद्योगिकियों जैसे समकालीन क्षेत्रों में सहयोग पर भी चर्चा की गई.’

    विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘अधिकारियों को दक्षिण एशिया, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और पश्चिमी हिंद महासागर में हाल के घटनाक्रमों के बारे में चर्चा करने का अवसर मिला. शांति, स्थिरता और समृद्धि के लिए और एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए अपने दृष्टिकोण को साझा किया.’ बैठक में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (अमेरिका) वाणी राव और रक्षा मंत्रालय में संयुक्त सचिव (अंतरराष्ट्रीय सहयोग) सोमनाथ घोष ने संयुक्त रूप से किया.

    Tags: America, India, National News

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर