लाइव टीवी

पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच डिनर पर ढाई घंटे हुई चर्चा, आतंकवाद और व्यापार पर रहा फोकस

News18Hindi
Updated: October 12, 2019, 9:21 AM IST
पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच डिनर पर ढाई घंटे हुई चर्चा, आतंकवाद और व्यापार पर रहा फोकस
पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच रात्रि भोज में वार्ता जारी रही.

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) दो दिन की भारत यात्रा पर शुक्रवार को महाबलीपुरम पहुंचे जहां उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात हुई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2019, 9:21 AM IST
  • Share this:
चेन्नई. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) दो दिन की भारत यात्रा पर शुक्रवार को महाबलीपुरम पहुंचे जहां उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से अनौपचारिक मुलाकात हुई. तमिलनाडु (Tamil Nadu) के तटीय शहर महाबलीपुरम (Mahabalipuram) में दोनों नेताओं के बीच शुक्रवार को करीब 5 घंटे तक आपसी बातचीत हुई.

इससे पहले, शी चिनपिंग शुक्रवार को चेन्नई में हवाई अड्डे पर पहुंचे जहां उनका भव्य स्वागत किया गया. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई के पलानीस्वामी, राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित तथा तमिलनाडु विधानसभा के अध्यक्ष पी धनपाल ने चीनी राष्ट्रपति का स्वागत किया.

पीएम मोदी ने राष्ट्रपति शी को कराई महाबलीपुरम की सैर
इस मौके पर पीएम मोदी पारंपरिक तमिल वेशभूषा में दिखे तो सफेद शर्ट और पैंट में नजर आए चीन के राष्ट्रपति. इस दौरान मोदी और शी ने महाबलीपुरम के ऐतिहासिक स्मारकों का भी भ्रमण किया.


Loading...

प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात
महाबलीपुरम के शोर मंदिर में विदेश मंत्री एस. जयशंकर, विदेश सचिव विजय गोखले और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से जिनपिंग ने मुलाकात की, जबकि पीएम मोदी ने चीनी प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की. पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी ने शोर मंदिर में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आनंद लिया. सांस्कृतिक कार्यक्रम का समापन गांधी जी के प्रिय भजन रघुपति राघव राजाराम... के साथ हुआ.

करीब दो घंटे तक चली डिनर डिप्लोमेसी, दक्षिण भारतीय व्यंजनों का लुत्फ उठाया
पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच रात्रि भोज में वार्ता जारी रही. प्रधानमंत्री और जिनपिंग के डिनर में पारंपरिक तमिल खाने के साथ साथ नॉन वेजेटेरियन डिश भी पेश की गईं. दोनों नेताओं को शानदार रात्रिभोज में अन्य व्यंजनों के साथ-साथ दालों से बनाया जाने वाला पारंपरिक दक्षिण भारतीय व्यंजन ‘सांभर’ भी परोसा गया. पिसी हुई दाल, विशेष मसालों और नारियल से तैयार की जाने वाली ‘अराचु विट्टा सांभर’ मेन्यू में आकर्षण का मुख्य केंद्र रही. इसके अलावा टमाटर से बनी थक्‍कली रसम, इमली, कदलाई कुरुमा और मिष्ठान में हलवा और अदा प्रधामन (केरल का मिष्ठान) समेत विभिन्न व्यंजन परोसे गए. चीनी राष्ट्रपति के लिए चुनिंदा मांसाहारी व्यंजन भी तैयार किए गए.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर बताया कि पूरा दिन एक शानदार डिनर पर सुखद बातचीत के साथ समाप्त हुआ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इस दौरान भारत-चीन की साझेदारी को और गहरा करने के बारे में बातचीत की.

पीएम मोदी ने उठाया व्यापार से लेकर आतंकवाद तक का मुद्दा
पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी ने द्विपक्षीय व्यापार एवं निवेश संबंधों को विस्तार देने पर जोर देने के अलावा आतंकवाद और कट्टरपंथ की चुनौतियों का मिलकर सामना करने का संकल्प लिया. विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपनी-अपनी राष्ट्रीय दूरदृष्टि एवं शासन संबंधी प्राथमिकताओं समेत कई मामलों पर बातचीत की.

गोखले ने बताया कि दोनों देशों के बीच आपसी संबंध, आतंकवाद और व्यापार जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई. मोदी और शी ने स्वीकार किया कि आतंकवाद एवं कट्टरपंथ साझी चुनौतियां हैं और दोनों नेता इससे निपटने के लिए मिलकर काम करेंगे. उन्होंने बताया कि दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय व्यापार एवं निवेश बढ़ाने पर चर्चा की और मोदी ने बातचीत के दौरान (चीन के साथ भारत के) व्यापार घाटे का भी मुद्दा उठाया.

ये भी पढ़ें-

Highlights: चीनी राष्ट्रपति के सामने पीएम मोदी ने उठाया व्यापार से लेकर आतंकवाद तक का मुद्दा

Analysis: पीएम मोदी और शी जिनपिंग इस मुलाकात के क्या हैं मायने?

Analysis: मोदी-जिनपिंग मुलाकात में छुपा है क्या संदेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2019, 4:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...