होम /न्यूज /राष्ट्र /तमिलनाडु पहुंचा हिजाब का मुद्दा, स्थानीय चुनाव में हुआ हंगामा, समझिए क्या है पूरा मामला

तमिलनाडु पहुंचा हिजाब का मुद्दा, स्थानीय चुनाव में हुआ हंगामा, समझिए क्या है पूरा मामला

तमिलनाडु के मदुरै में एक पोलिंग बूथ पर हिजाब को लेकर विवाद. (ANI)

तमिलनाडु के मदुरै में एक पोलिंग बूथ पर हिजाब को लेकर विवाद. (ANI)

Hijab row: तमिलनाडु में आज स्थानीय निकायों के चुनाव (Urban Local Body Poll) हो रहे हैं. चुनाव के दौरान कुछ महिलाएं हिजा ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. तमिलनाडु में आज स्थानीय निकायों के चुनाव (Urban Local Body Poll) हो रहे हैं. चुनाव के दौरान कुछ महिलाएं हिजाब पहनकर वोट डालने आ रही हैं. इस मामले को लेकर हंगामे की खबर है. एएनआई की खबर के मुताबिक मदुरै के एक पोलिंग बूथ पर कुछ महिलाएं हिजाब पहनकर वोट डालने आईं लेकिन वहां मौजूद बीजेपी (BJP) के बूथ कमिटी मेंबर ने हंगामा कर दिया और उन्हें वोट नहीं देने की मांग करने लगे. बीजेपी सदस्य ने महिला को बिना वोट दिए जाने को कहा. इसके बाद डीएमके और एआईडीएमके के सदस्यों ने आपत्ति की. हंगामा बढ़ता देख पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा.

यह मामला राज्य की राजनीति में भी तूल पकड़ लिया है. डीएमके के विधायक उदयनिधि स्टालिन (Udhayanidhi Stalin) ने कहा, बीजेपी हमेशा से यही करती आ रही है. हम इसके खिलाफ हैं. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु की जनता को पता है कि किसे स्वीकार करना है और किसे अस्वीकार करना है. उदयनिधि तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन के पुत्र हैं.

11 साल बाद स्थानीय निकाय चुनाव

इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन और उनके बेटे एवं विधायक उदयनिधि स्टालिन ने राज्य में शहरी स्थानीय निकाय चुनाव के दौरान चेन्नई के एक मतदान केंद्र पर वोट डाला. तमिलनाडु में स्थानीय निकाय के चुनाव 11 साल बाद हो रहे हैं. तमिलनाडु की 21 निगमों, 138 नगर पालिकाओं और 490 पंचायतों में आझ वोट डाले जा रहे हैं. सत्तारूढ़ द्रमुक और उसके सहयोगी साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं. 12,607 सीटों पर 57 हजार 778 उम्‍मीदवार मैदान में हैं. मतगणना 22 फरवरी को होगी नए सदस्‍य दो मार्च को कार्यभार संभाल लेंगे.

तुमकुर में प्रदर्शन करने वाली 10 लड़कियों के खिलाफ मामला दर्ज
इधर कर्नाटक में हिजाब विवाद में प्रदर्शन करने वाले लोगों पर केस दर्ज किया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक 17 फरवरी को तुमकुर में गर्ल्स एम्प्रेस गवर्नमेंट पीयू कॉलेज के बाहर हिज़ाब को लेकर प्रदर्शन किया गया था. इस प्रदर्शन के दौरान सीआरपीसी की धारा 144 के तहत जारी निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के आरोप में कम से कम 10 लड़कियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 149, 143, 145 और 188 के तहत FIR दर्ज़ की गई है.

Tags: Hijab controversy, Karnataka

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें