लाइव टीवी
Elec-widget

महाराष्ट्र में नहीं बदला इतिहास, फिर निर्विरोध चुने जाएंगे विधानसभा अध्यक्ष

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 10:52 AM IST
महाराष्ट्र में नहीं बदला इतिहास, फिर निर्विरोध चुने जाएंगे विधानसभा अध्यक्ष
महाराष्ट्र के नए विधानसभा स्पीकर होंगे नाना पटोले

बीजेपी के नाम वापसी के बाद अब तय हो गया है कि 'महाराष्ट्र विकास आघाडी' का उम्मीदवार नाना पटोले निर्विरोध महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष चुने जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 10:52 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव से ठीक पहले बीजेपी ने किसन शंकर कथोरे का नाम वापस ले लिया है. बीजेपी के नाम वापसी के बाद अब तय हो गया है कि 'महाराष्ट्र विकास आघाड़ी' के उम्मीदवार नाना पटोले निर्विरोध महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष चुने जाएंगे. महाराष्ट्र के इतिहास में अभी तक यही परंपरा रही है कि स्पीकर का चुनाव निर्विरोध होता है. कांग्रेस ने उम्मीद जताई थी कि बीजेपी इस परंपरा को कायम रखने में मदद करेगी और अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लेगी.

महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत हासिल करने के बाद रविवार को उद्धव ठाकरे सरकार के सामने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव की चुनौती थी. महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि भाजपा ने कल महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए किसान कथोरे को नामित किया था. लेकिन, नई सरकार के अनुरोध के बाद हमने कथोरे की उम्मीदवारी वापस लेने का फैसला किया है. प्रोटेम स्पीकर दिलीप वाल्से पाटिल ने आज स्पीकर चुने जाने के लिए ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई थी इसी दौरान यह फैसला हुआ. इसी बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट करते हुए कहा है कि मजबूत होने का मजा ही तब है, जब सारी दुनिया कमजोर करने पर तुली हो.

इसे भी पढ़ें :- गडकरी के खिलाफ ताल ठोंक चुके हैं स्पीकर पद के कांग्रेसी उम्मीदवार नाना पटोले

कौन हैं नाना फागुन राव पटोले

नाना फागुन राव पटोले ने राजनीति की शुरुआत कांग्रेस से की थी. लेकिन साल 2008 में वो पार्टी से अलग हो गए थे. करीब एक साल तक निर्दलीय रहने के बाद उन्होंने साल 2009 में भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा था. साल 2014 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर वो लोकसभा चुनाव में उतरे. उनके सामने थे केंद्रीय मंत्री और एनसीपी के हैवीवेट नेता प्रफुल्ल कुमार पटेल. उन्होंने इस चुनाव में प्रफुल्ल पटेल को करीब डेढ़ लाख वोटों से मात दी थी. हालांकि तीन साल बाद 2017 में नाना पटोले पहले सांसद बने जिन्होंने बीजेपी के खिलाफ आवाज बुलंद की. विवादों के कारण उन्होंने बीजेपी भी छोड़ दी थी. तब उन्होंने पार्टी शीर्ष नेतृत्व पर काफी आरोप भी लगाए थे जिनसे बाद में इनकार कर दिया था. एक साल बाद उन्होंने फिर से कांग्रेस में घरवापसी कर ली. उनके कांग्रेस में ज्वाइन करने पर खुद राहुल गांधी ने उनका स्वागत किया था. नाना पटोले सकोली विधानसभा सीट से तीन बार विधायक भी रह चुके हैं.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र: कांग्रेस के नाना पटोले होंगे विधानसभा स्पीकर, बीजेपी ने किसन कथोरे का नाम वापस लिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 10:11 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...