दविंदर सिंह को हिज़बुल ने भारत की संवेदनशील जानकारी पाकिस्तान भेजने के लिए किया था तैयार - NIA चार्जशीट

दविंदर सिंह को हिज़बुल ने भारत की संवेदनशील जानकारी पाकिस्तान भेजने के लिए किया था तैयार - NIA चार्जशीट
जम्मू कश्मीर पुलिस ने देवेंद्र सिंह के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है फोटो साभारः PTI

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की चार्जशीट (Charge Sheet) में बताया गया है कि दविंदर सिंह (Devender Singh) दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग के कुछ अधिकारियों के साथ सीधे संपर्क में था.

  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu Kashmir Police) से निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह (Devender Singh) से जुड़े एक मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कोर्ट में चार्जशीट (Charge Sheet) दायर कर दी. एनआईए की चार्जशीट में 6 लोगों का नाम सामने आया है जो पिछले कई सालों से देश में कथित रूप से आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे रहे थे.

चार्जशीट में बताया गया है कि दविंदर सिंह दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग के कुछ अधिकारियों के साथ सीधे संपर्क में था. इस बात की जानकारी किसी को न लगे इसके लिए सोशल मीडिया के जरिए दविंदर पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारियों से बात करता था. जानकारी है कि आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने भारत की संवेदनशील जानकारी पाकिस्तानी अधिकारियों तक भेजने के लिए ही दविंदर को तैयार किया था. चार्जशीट में बताया गया है कि दविंदर सिंह किस तरह हिज़बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर सैयद नवीद, रफी अहमद और इरफान शफी मीर को अपनी कार में बैठाकर उन्हें कश्मीर से सुरक्षित बाहर निकालने की फिराक में था, लेकिन कुलगाम में इन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया.

एनआईए की चार्जशीट में बताया गया है कि इरफान शफी मीर जो वकील होने का दावा करता है, लगातार पाकिस्तान उच्चायोग के संपर्क में था. यही नहीं मीर ही जम्मू-कश्मीर में राष्ट्र विरोधी सेमिनार के लिए पैसा जुटाने का भी काम करता था. चार्जशीट में बताया गया है कि इरफान शफी मीर दिल्ली में मौजूद पाकिस्तान उच्चायोग से निर्देश लेता था और बड़ी संख्या में कश्मीरियों के लिए ​वीजा बनवाने का काम करता था. ये सभी 6 आरोपी हिज़बुल मुजाहिदीन और पाकिस्तान में बैठे शीर्ष अधिकारियों के आदेश पर भारत में हिंसक वारदात को अंजाम देने की साजिश रचा करते थे.



इसे भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर के निलंबित DSP दविंदर सिंह को मिली जमानत
पिछले साल 11 जनवरी को पकड़ा गया था दविदंर सिंह
दक्षिण कश्मीर में दो आतंकवादियों को साथ ले जाते समय दविंदर सिंह को 11 जनवरी को पकड़ा गया था. एनआईए ने 18 जनवरी को आतंकी मामले की जांच अपने हाथ में ले ली. दविंदर सिंह के अलावा दो अन्य आतंकी हिज्बुल मुजाहिदीन के स्वयंभू कमांडर सैयद नवीद मुश्ताक अहमद उर्फ नवीद बाबू तथा रफी अहमद राठेर को गिरफ्तार किया गया. खुद को वकील बताने वाले इरफान शफी मीर को भी पकड़ा गया था. बाद में 23 जनवरी को नवीद के भाई सैयद इरफान अहमद को भी गिरफ्तार किया गया.

इसे भी पढ़ें :- टेरर फंडिंग से जुड़े पाकिस्तानी उच्चायोग अधिकारियों के तार, NIA को मिले अहम सबूत

आतंकियों को देता था पनाह
सूत्रों के मुताबिक, दविंदर ने आतंकियों को पनाह देने के लिए तीन अलग-अलग घर बना रखे थे. दविंदर ने न सिर्फ अपने श्रीनगर के इंदिरानगर के घर पर आतंकियों के रहने का इंतजाम किया, बल्कि चानपोरा और सनत नगर इलाकों में भी उनके रहने की व्यवस्था की. आरोप है कि ये घर निर्दोष लोगों को आतंकवाद के मामले में फंसाकर उनसे लिए गए पैसे से बनाए गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading