ब्रह्मोस मिसाइल का भारत ने किया परीक्षण, 400 KM तक दुश्मन की खैर नहीं, अमित शाह ने दी बधाई

गृह मंत्री अमित शाह ने बह्मोस मिसाइल के सफल परीक्षण पर DRDO को बधाई दी (File Photo)
गृह मंत्री अमित शाह ने बह्मोस मिसाइल के सफल परीक्षण पर DRDO को बधाई दी (File Photo)

यह मिसाइल पहले से ही भारतीय थलसेना (Indian Army), नौसेना (Navy) और वायुसेना (Air Force) के पास है. इसे दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल (fastest supersonic cruise missile) माना जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 5:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत ने ओडिशा (Odisha) स्थित एक प्रक्षेपण स्थल से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल (BrahMos Supersonic Cruise Missile) का बुधवार को सफल प्रायोगिक परीक्षण (Successful Flight Testing) किया. इस मिसाइल की मारक क्षमता 400 किलोमीटर से ज्यादा है. इस बड़ी सफलता पर गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल (BrahMos supersonic cruise missile) के सफल उड़ान परीक्षण के लिए DRDO को बधाई दी.

गृहमंत्री (Home Minister) अमित शाह ने ट्वीट किया, "स्वदेशी रूप से विकसित (indigenously developed) विस्तारित रेंज वाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए DRDO को भारत पर बहुत गर्व है." इससे पहले रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के सूत्रों ने बताया कि यहां पास में चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र (ITR) से अत्याधुनिक मिसाइल का प्रक्षेपण किया गया जो सफल रहा.

इस मिसाइल को समुद्र, जमीन और लड़ाकू विमानों से भी दागा जा सकता है
डीआरडीओ के एक अधिकारी ने बताया कि परीक्षण के दौरान सभी मानक प्राप्त कर लिए गए. प्रयोगिक परीक्षण पूर्वाह्न 10 बजकर 45 मिनट पर किया गया. उन्होंने कहा कि मिसाइल को समुद्र, जमीन और लड़ाकू विमानों से भी दागा जा सकता है. मिसाइल के पहले विस्तारित संस्करण का सफल परीक्षण 11 मार्च 2017 को किया गया था, जिसकी मारक क्षमता 450 किलोमीटर थी.
तीस सितंबर 2019 को चांदीपुर स्थित आईटीआर से कम दूरी की मारक क्षमता वाली ब्रह्मोस मिसाइल के जमीनी संस्करण का सफल परीक्षण किया गया था.



इसे दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल माना जाता है
डीआरडीओ और रूस के प्रमुख एरोस्पेस उपक्रम एनपीओएम द्वारा संयुक्त रूप से विकसित ब्राह्मोस मिसाइल "मध्यम रेंज की रेमजेट सुपरसोनिक क्रूज" मिसाइल है, जिसे पनडुब्बियों, युद्धपोतों, लड़ाकू विमानों तथा जमीन से दागा जा सकता है.

यह भी पढ़ें: पेरिस: लड़ाकू विमान से हुई जोरदार धमाके की आवाज, लोग बोले-घर की इमारतें हिलीं

सूत्रों ने बताया कि यह मिसाइल पहले से ही भारतीय थलसेना, नौसेना और वायुसेना के पास है. इसे दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल माना जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज