लाइव टीवी

खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों में बड़ा बदलाव कर रहे हैं गृहमंत्री अमित शाह, पांच नए लोगों को मिलेगी कमान

News18Hindi
Updated: June 27, 2019, 10:49 AM IST
खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों में बड़ा बदलाव कर रहे हैं गृहमंत्री अमित शाह, पांच नए लोगों को मिलेगी कमान
जल्द ही आंतरिक सुरक्षा के मसले पर अमित शाह कर सकते हैं कई बड़े फैसला का ऐलान.

गृहमंत्री अमित शाह कश्मीर समस्या, देश के अंदर आंतरिक सुरक्षा, आतंकवाद-उग्रवाद और नक्सल गतिविधियों पर रोकथाम, नार्थ-ईस्ट की समस्या जैसे मसलों पर काफी गंभीरता से काम कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 27, 2019, 10:49 AM IST
  • Share this:
शंकर आनंद
अमित शाह ने जबसे गृह मंत्रालय का कार्यभार संभाला है वो कई महत्वपूर्ण कदम उठा रहे हैं. इसके लिए वह खुद कई घंटों तक बैठक कर रहे हैं. कश्मीर समस्या, देश के अंदर आंतरिक सुरक्षा, आतंकवाद-उग्रवाद और नक्सल गतिविधियों पर रोकथाम, नार्थ-ईस्ट की समस्या जैसे मसलो पर वह काफी गंभीरता से नजर बनाए हुए हैं. साथ ही वह सुरक्षा और जांच एजेंसियों से जुड़े कई प्रमुख पदों पर अपने हिसाब से नियुक्त‌ि कर रहे हैं.

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई बैठक में एसीसी यानी अप्वाइंटमेंट कमेटी ऑफ द कैबिनेट ने गृहमंत्री अमित शाह के साझा मंतव्य से भारतीय खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) के अगले प्रमुख का चयन किया. इसी महीने अनिल कुमार धसमाना के सेवानिवृत होने के बाद सामंत गोयल का नए रॉ प्रमुख के तौर पर चयन किया गया है.

सामंत का चयन कई मायनों में एक बेहतर पहल

सामंत का चयन कई मायनों में एक बेहतर पहल माना जा रहा है. आईपीएस अधिकारी सामंत गोयल की चर्चा करें तो वो 1984 बैच के अधिकारी हैं. इनकी सबसे बड़ी उपलब्धि आतंकियों द्वरा किए गए पुलवामा हमले के बाद उसका बदला लेने के लिए बालाकोट एयर स्ट्राइक की योजना बनाने और उसको पूरा करवाने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका रही.

सामंत गोयल 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं


यह भी पढ़ेंः कश्मीर में अलगावादी नेताओं से बात नहीं करेंगे अमित शाह!खुफिया विभाग के एक बड़े अधिकारी के मुताबिक पंजाब कैडर के आईपीएस अधिकारी सामंत गोयल ने 1990 के दशक में पंजाब में उग्रवाद पर रोकथाम और कंट्रोल करने के लिए खुद ग्राउंड रिपोर्ट और उसकी वास्तविकता को समझते हुए कई ऑपरेशन को अंजाम दिया था. लंदन और दुबई में भी भारत के तरफ से सामंत को इंचार्ज कॉन्सुलर के रूप में तैनात किया गया था. उनके काम की काफी तारीफ की गई थी.

बिहार के रहने वाले हैं नए आईबी चीफ
26 जून को ही 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी अरविंद कुमार का भारतीय खुफिया एजेंसी इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के अगले प्रमुख के तौर पर चयन किया गया. आईपीएस अधिकारी अरविंद कुमार मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं लेकिन उनकी शुरुआती पढ़ाई झारखंड के नेतरहाट आवासीय विद्यालय से हुई है. अरविंद कुमार आईबी प्रमुख बनने से पहले इसी विभाग में कार्यरत हैं. इन्होंने पिछले कुछ सालों में आईबी में रहते हुए कई महत्वपूर्ण ऑपरेशंस के लिए बेहतर कार्य किया है.

आईपीएस अधिकारी अरविंद कुमार मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं.


इसे फिलहाल मीडिया के सामने विशेष कारणों से साझा नहीं किया जा सकता है. लेकिन राजीव जैन के स्थान पर अरविंद कुमार को आईबी चीफ बनाने में अमित शाह की काफी महत्वपूर्ण भूमिका समझी जा रही है. क्योंकि इनके समर्थन में कई रिपोर्ट मिलीं जिससे साफ पता चलता है वो काफी तेज-तर्रार, सुलझे हुए अधिकारी हैं.

यह भी पढ़ेंः जानें कौन हैं अरशद, जिनके परिवार से आज मिलेंगे अमित शाह

आईपीएस अधिकारी अरविंद कुमार अभी तक आईबी की कश्मीर डेस्क पर नंबर दो की पोजीशन पर कार्यरत थे. हलांकि इस नियुक्ति वाली फाइल पर गृहमंत्री के हस्ताक्षर के बाद उसे पीएमओ भेज दिया गया है. गृह मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक आईबी प्रमुख और रॉ प्रमुख दोनों 30 जून से अपना पदभार ग्रहण करेंगे.

बीएसएफ, सीआरपीएफ और एनआईए में होंगी नई नियुक्तियां
गृह मंत्रालय के सूत्रों की अगर मानें तो आने वाले वक्त में बीएसएफ के नए डीजी के चयन को भी अंजाम देने में भी अमित शाह जुट गए हैं. क्योंकि कुछ ही महीनों के बाद सीमा सुरक्षा बल (BSF) के डायरेक्टर जनरल रजनीकांत मिश्रा सेवानिवृत होने वाले हैं. साथ ही सीआरपीएफ के डीजी राजीव राय भटनागर भी कुछ महीनों के बाद सेवानिवृत होने वाले हैं.

केंद्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के कार्यों पर भी अमित शाह पैनी नजर बनाए हुए हैं.


लिहाजा इन महत्वपूर्ण पदों के लिए उपयुक्त उम्मीदवारों के नामों पर भी चर्चा शुरू हो गई है. केंद्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के कार्यों पर भी अमित शाह पैनी नजर बनाए हुए हैं. ये संस्था देश के अंदर आतंकी गतिविधियों पर लगाम लगाने का काम करती है.

एक नजर में गृहमंत्री अमित शाह के पांच बड़े कदम
- भारतीय खुफिया एजेंसी आईबी और रॉ के प्रमुख का अमित शाह के नेतृत्व में हुआ चयन

- जल्द ही बीएसएफ और सीआरपीएफ के नए डीजी के नाम पर भी होगा फैसला

- एनआईए को पहले से और बेहतर और मजबूत बनाने पर भी लिया जा रहा है बड़ा फैसला

- जल्द ही आंतरिक सुरक्षा के मसले पर हो सकता है कई बड़े फैसलों का ऐलान

- देश के अंदर आंतरिक सुरक्षा को पहले से ज्यादा मजबूत करने के मसले पर चल रहा है काम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 27, 2019, 10:03 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर