बंगाल हिंसा: अमित शाह ने मांगी रिपोर्ट, केंद्र ने कहा- ममता ठीक से काम नहीं कर रहीं

वहीं बंगाल हिंसा पर केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी की है. जिसमें बंगाल में बार-बार हो रही हिंसा पर चिंता जाहिर की है.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 5:30 PM IST
बंगाल हिंसा: अमित शाह ने मांगी रिपोर्ट, केंद्र ने कहा- ममता ठीक से काम नहीं कर रहीं
गृहमंत्री अमित शाह (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 5:30 PM IST
पश्चिम बंगाल में लगातार हिंसा बढ़ती जा रही है. शनिवार शाम को बंगाल बीजेपी चीफ दिलीप घोष की रैली को पुलिस ने रोक दिया था. जिसके बाद पुलिस और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प में तीन लोग घायल हो गए. अभी ये मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि देर शाम बंगाल के 24 परगना में टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच विवाद हो गया. जिसमें कुछ लोगों की मौत का दावा किया गया. इस मामले पर अब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के अधिकारियों से ग्राउंड रिपोर्ट मांगी है.

वहीं बंगाल हिंसा पर केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी की है. जिसमें बंगाल में बार-बार हो रही हिंसा पर चिंता जाहिर की है. इसके साथ ही केंद्र ने कहा कि ममता बनर्जी की सरकार कानून व्‍यवस्‍था को बरकरार रखने में कामयाब नहीं दिख रही है. सरकार ठीक से अपना काम नहीं कर रही है. केंद्र ने बंगाल सरकार को कानून-व्‍यवस्‍था और शांति बनाए रखने की सलाह दी है. इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि जो अधिकारी ठीक से काम नहीं कर रहे हैं, उनपर कठोर कार्रवाई करनी चाहिए.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, झड़प में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के तीन कार्यकर्ताओं और एक तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ता की मौत हो गई थी. इस वारदात के बाद बीजेपी नेता मुकुल रॉय के नेतृत्‍व में एक प्रतिनिधिमंडल रविवार को बशीरहाट अस्‍पताल पहुंच गया है. यह प्रतिनिधिमंडल हिंसा की स्थिति का जायजा लेकर अमित शाह को वहां की स्थिति से अवगत कराएगा.

इस प्रतिनिधिमंडल में मुकुल रॉय, पार्टी महासचिव सयंतन बसु, सांसद लॉकेट चटर्जी, सांसद जगन्‍नाथ सरकार, सांसद शांतनु ठाकुर, सांसद अर्जुन सिंह और विधायक दुलाल बर शामिल हैं. हालांकि बीजेपी का प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली में प्रवेश नहीं कर पाएगा, क्‍योंकि पर प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है.



वहीं बंगाल के 24 परगना की घटना पर बीजेपी का दावा है कि अभी कुछ और कार्यकर्ताओं के शव भी बरामद हो सकते हैं. हालांकि आधिकारिक रूप से बीजेपी के दो और टीएमसी के 1 कार्यकर्ता के मौत की पुष्टि की गई है.

हिंसा की घटनाओं को लेकर बंगाल के राज्‍यपाल केशनी नाथ त्रिपाठी सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे. इस दौरान उनके बीच बंगाल की कानून व्‍यवस्‍था पर चर्चा होगी. इस दौरान बशीरहाट हिंसा पर भी चर्चा की जाएगी.
Loading...

हत्‍या करने वाले लोग लगा रहे हैं आरोप: पार्थ चटर्जी

पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने हिंसा के मामले पर कहा कि जो लोग हत्‍या कर रहे हैं वही आरोप लगा रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि जो आज हो रहा है वे आठ साल में इससे पहले नहीं हुआ. उन्‍होंने कहा कि हम कानून व्‍यवस्‍था बनाने की कोशिश कर रहे हैं तो हम अशांति क्‍यों फैलाएंगे? लेकिन सबसे बड़ा सवाल की राज्‍य में हथियार कहां से आ रहे हैं.

टीएमसी सरकार फैला रही अशांति

बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने कहा कि बंगाल की सीएम राज्‍य में अशांति की स्थिति पैदा कर रही हैं. कल शाम
टीएमसी नेताओं द्वारा बशीरहाट के संदेशखली में हमारे कार्यकर्ताओं पर हमला किया और हमारे कार्यकर्ताओं की बेरहमी से हत्‍या कर दी गई. कुछ गांव ऐसे हैं जो इतनी ज्‍यादा अशांति फैल गई है कि लोग गांव छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं. पुलिस सही से जांच नहीं कर रही है, वे घटना को छुपाने की कोशिश कर रही है.

नुसरत जहां बोलीं- मैं मृतकों के साथ चाहे वे किसी भी पार्टी से

टीएमसी की संसद नुसरत जहां ने कहा, 'हिंसा की घटना पर जांच चल रही है. अब स्थिति नियंत्रण में है. हम सभी को अब शांति की अपील करनी चाहिए. मैं मानवता और धर्मनिरपेक्षता के साथ खड़ी हूं. मैं मृतकों के परिजनों के साथ हूं, वे चाहे किसी भी पार्टी के हों. मैं सबसे अनुरोध करती हूं कि वे मानवता के लिए काम करें.'

24 परगना में हिंसा की घटना

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के नाजट इलाके में शनिवार रात तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में कम से कम चार लोग कथित तौर पर मारे गए. जबकि तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. दोनों पार्टियों के सूत्रों ने यह दावा किया है.



हालांकि, पुलिस ने इन मौतों के बारे में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. उन्होंने बताया कि स्थिति पर नियंत्रण रखने के लिए पुलिस बल भेजा गया है. दोनों दलों से जुड़े सूत्रों ने बताया कि यह झड़प क्षेत्र से भगवा पार्टी का झंडा हटाने को लेकर हुई.

ये भी पढ़ें: बंगाल में 250 से ज्यादा सीट जीतने की तैयारी में बीजेपी, ये है प्लान!

भाजपा की राज्य इकाई के महासचिव सयान्तन बोस ने बताया कि उनकी पार्टी के तीन कार्यकर्ता- सुकांत मंडल, प्रदीप मंडल और शंकर मंडल ने जब टीएमसी के समर्थकों को पार्टी का झंडा फेंकने से रोकने की कोशिश तो उन्हें गोली मार दी गई.

बासू ने कहा, 'हमें पता चला है कि दो और लोग मारे गए हैं लेकिन हमें उनके शव नहीं मिले हैं. उन्होंने हमारी पार्टी के झंडे फेंकने और पोस्टर फाड़ने की कोशिश की और जब हमने विरोध किया तो हमारे कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई.'

ये भी पढ़ें: बंगाल में तीन BJP कार्यकर्ताओं की हत्या, अमित शाह से मिलने पहुंचे मुकुल रॉय

भाजपा के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय ने कहा कि पार्टी केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को घटना की जानकारी देगी क्योंकि बंगाल में भाजपा के कार्यकर्ताओं पर हिंसा के लिए तृणमूल ही जिम्मेदार है. वहीं, टीएमसी ने दावा किया कि उसका भी एक कार्यकर्ता मारा गया है. पार्टी के 24 उत्तर परगना जिले के अध्यक्ष तथा राज्य के मंत्री जे मुलिक ने बताया कि पार्टी समर्थक कयूम मुल्ला की भाजपा कार्यकर्ताओं ने हत्या कर दी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 9, 2019, 5:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...