होम /न्यूज /राष्ट्र /Amit Shah: स‍िक्‍किम को सहकार‍िता का केंद्र बनाने की जरूरत- कोऑपरेटिव डेरी कॉन्‍क्लेव में बोले गृह मंत्री अम‍ित शाह

Amit Shah: स‍िक्‍किम को सहकार‍िता का केंद्र बनाने की जरूरत- कोऑपरेटिव डेरी कॉन्‍क्लेव में बोले गृह मंत्री अम‍ित शाह

अम‍ित शाह ने कहा क‍ि हिमालयी राज्य में कौन कल्पना कर सकता था कि देशभर के कोआपरेटिव डेरी कॉन्‍क्लेव यहां हो रही है. (Amit Shah-Twitter)

अम‍ित शाह ने कहा क‍ि हिमालयी राज्य में कौन कल्पना कर सकता था कि देशभर के कोआपरेटिव डेरी कॉन्‍क्लेव यहां हो रही है. (Amit Shah-Twitter)

Amit Shah in Gangtok Cooperative Dairy Conclave: भारत सरकार ने मल्टी डायमेंशन पैक्स योजना बनाई. यह बहुत बड़ी मांग थी कि ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अगले 5 साल में देश की हर पंचायत में डेयरी बनाई जाएगी
पूर्वोत्तर का सही विकास मोदीजी के पीएम बनने बाद हु़आ है.
हर राज्य में एयरपोर्ट, उद्योग है. पूर्वोत्तर में अष्टलक्ष्मी है

गंगटोक. केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह पूर्वोत्‍तर राज्‍य सिक्किम के दौरे पर हैं. सहकार‍िता मंत्री अम‍ित शाह ने गंगटोक में सहकारिता सम्मेलन कार्यक्रम में शिरकत की और कहा क‍ि मुझे देश के सबसे खूबसूरत राज्य में आने का मौका द‍िया गया. उन्‍होंने कहा क‍ि जब कभी गुजरात में सिक्किम का नाम लिया जाता है तो बड़े सम्मान के साथ लिया जाता है.

केंद्रीय मंत्री शाह ने कहा क‍ि हिमालयी राज्य में कौन कल्पना कर सकता था कि देशभर के कोऑपरेटिव डेरी कॉन्‍क्लेव यहां हो रही है. हर दिन 2 लाख लीटर दूध का उत्पादन सिक्किम में होता है, ये लोगों की आमदनी बढ़ाने का जरिया भी है.

उन्‍होंने यह भी बताया क‍ि भारत सरकार ने मल्टी डायमेंशन पैक्स योजना बनाई. यह बहुत बड़ी मांग थी कि सहकारिता से गरीबी उन्मूलन का काम किया जाए. इस योजना के जर‍िए लाखों करोड़ों वनबंधु, कृषक इससे जुड़े हैं. पीएम ने सहकारिता मंत्रालय का निर्माण कर इनके कल्याण का काम किया है. गुजरात की बात सिक्किम में इसलिए बता रहा हूं क्योंकि सहकारिता में बहुत संभावना है. केंद्रीय सहकार‍िता मंत्री अम‍ित शाह ने स‍िक्‍किम राज्‍य को पूर्व का स्विट्जरलैंड कहते हुए कहा क‍ि यह अब सहकारिता का भी केन्द्र बनना चाह‍िए.

शाह ने कहा क‍ि अगले 5 साल में देश की हर पंचायत में डेयरी बनाई जाएगी. डेयरी को किसान की समृद्धि का साधन बनाया जाए. डेयरी से अनेक उद्देश्य सिद्ध होते हैं. बच्चों को पोषण मिलता है, महिला सशक्तिकरण, और गरीबी उन्मूलन ये सहकारिता का चमत्कार है. प्राकृतिक खेती होती है.

डेयरी की व्यवस्था कोऑपरेटिव हो, प्राइवेट न हो. मुनाफे का मालिक डेयरी मालिक हो. इस तरह की व्‍यवस्‍था मोदी सरकार ने तय की है. उन्‍होंने कहा क‍ि अगले 5 साल में देश की हर पंचायत में डेयरी बनाई जाएगी. पूर्वोत्तर का सही विकास मोदीजी के पीएम बनने बाद हु़आ है. हर राज्य में एयरपोर्ट, हर राज्य में उद्योग है. पूर्वोत्तर में अष्टलक्ष्मी है यानी आठ राज्य हैं.

70 फीसदी दूध असंगठित तरीके से मार्केट में जाता है
उन्‍होंने कहा क‍ि 70 फीसदी दूध असंगठित तरीके से मार्केट में जाता है. ये हमारी बहुत बड़ी कमजोरी है. विश्व में भारत के डेयरी उत्पाद को एक्सपोर्ट कर मुनाफा किसानों को द‍िया जाएगा. सहकारिता इतना मजबूत हो कि विदेशी कंपनियां यहां आ न सकें. अभी 12 फीसदी दुग्ध उत्पादन की नार्थ ईस्ट से देश में हिस्सेदारी है इसको हमें 20 फीसदी तक पहुंचाना है. शाह ने कहा क‍ि सिक्किम सहित नार्थ ईस्ट में जितना पिछले 50 साल में खर्चा हुआ है, उतना मोदीजी 2024 तक कर देंगे.

Tags: Amit shah, Sikkim

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें